Sunday , 24 October 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
हर्ष फायरिंग में युवक की मौत -पुलिस बता रही रंजिश में हत्या

हर्ष फायरिंग में युवक की मौत -पुलिस बता रही रंजिश में हत्या

abu obaida कानपुर। बिधनू थाना क्षेत्र के खाडेपुर गाँव में गुरुवार देर रत बरात में अंधाधुंध हर्ष फायरिंग की चपेट में आकर गाँव के ही १७ वर्षीय अजय की गर्दन में गोली लगने से मौत हो गयी। पुलिस अजय की मौत को हर्ष फायरिंग के बजाये आपसी रंजिश में ह्त्या का मामला बता कर अपनी गर्दन बचाने की कोशिश कर रही है।बिधनू पुलिस की कोशिश है कि घटना को आपसी रंजिश बता कर डीजीपी के उस फरमान से बचा जासके जिसमे उन्हों ने दो दिन पूर्व ही क्षेत्र में हर्ष फायरिंग पर सम्बंधित थानेदार को ज़िम्मेदार मानने की बात कही थी। यही कारण है कि बिधनू पुलिस मृतक अजय के घर वालों पर मुसलसल दबाव बना कर हर्ष फायरिंग के बजाये रंजिश में ह्त्या किये जाने की तहरीर देने पर ज़ोर दे रही है जब की परिजन गाँव में किसी से भी रंजिश से इंकार कर रहे हैं।
जानकारी के अनुसार खाडेपुर गाँव में गुरुवार रात सुरेन्द्र की बेटी की शादी थी। देर रात बरात गांव पहुंची और जनवासे के बाद बैंड बाजे के साथ नशे में धुत बाराती सुरेन्द्र के घर की ओर बढ़ रहे थे। इसी बीच जब बारात ११ वीं के छात्र मृतक अजय के घर के बाहर पहुंची तो वह बारात को देखने के लिए बाहर आ गया इसी बीच बारात में शामिल लोगों ने लाइसेंसी और गैर लाइसेंसी असलहों से ताबड़ तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं। इतने में एक गोली अजय की गर्दन पर लगी और वह वहीँ गिर कर तड़पने लगा। आसपास खड़े लोगों ने जब अजय को गिरते देखा तो तुरंत उसे उठाया। अजय के गले से खून की धार बह रही थी। गांंव वाले आननफानन में उसे पास के अस्पताल लगाये जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।घटना की सूचना पाकर बिधनू थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी ली। इसी बीच अजय के परिजनों व गांव वालों ने शादी के पंडाल में धावा बोल दिया जिस से गाँव में माहौल तनावपूर्ण होगया।गाँव के युवक की गोली लगने से मौत की खबर पर बाराती अपने असलहों सहित भाग खड़े हुए।मृतक अजय के बड़े भाई ने बताया की वह भी इस शादी में शरीक था और खाना खा कर लौट रहा था जब की अजय को भी इस शादी में जाना था लेकिन यह हादसा हो गया।इस मामले में अजय के भाई ने बरात में शामिल अज्ञात लोगों के विरुद्ध हर्ष फायरिंग की शिकायत पुलिस से की लेकिन पुलिस मामले की लीपापोती में लगी है और घटना को हर्ष फायरिंग के बजाये आपसी रंजिश में बदलने का दबाव बना रही है। जबकि अजय की माँ चीख चीख कर कह रही है कि उनके परिवार की रंजिश तो छोड़ो किसी से कोई मन मुटाव भी नहीं।बिधनू पुलिस के इस ताना शाही रवैये पर एसपी ग्रामीण सुरेन्द्र नाथ तिवारी ने कहा कि घटना की जांच करायी जारही है और एसओ की भूमिका को भी देखा जारहा है यदि मामला रंजिश का न होकर हर्ष फायरिंग का निकला तो उनपर भी अवश्य विभागीय कार्रवाई की जाए गी।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*