Monday , 10 December 2018
Breaking News
मतदाता सूची में अपना नाम ज़रूर दर्ज कराएं -उसामा 

मतदाता सूची में अपना नाम ज़रूर दर्ज कराएं -उसामा 

कानपुर:- धर्मनिरपेक्षता को मजबूत बनाने, अधिकारों को पाने और देश की समृद्धि व विकास के लिये वोट का उपयोग करने के लिए मतदाता सूची में प्रविष्टि चाहिए जिसकी अवधि बढ़ाकर 15 नवंबर कर दी गई है इस अवसर का लाभ अवश्य लें और अपना और अपने बच्चों के जो 18 साल की उम्र के हो गए हैं उनका मतदाता सूची में करवायें और इस बात को सुनिश्चित कर लें कि आपका नाम मतदाता सूची में है , यह जाँच लें अगर कोई गलती हो तो उसे सही करा लें इन विचारों को जमीअत उलमा के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना मुहम्मद मतीनुल हक़ उसामा क़ासमी ने मतदाता जागरूकता रैली को झण्डी दिखाने के बाद व्यक्त किया।
मौलाना मुहम्मद मतीनुल हक उसामा क़ासमी ने कहा कि देश को आजाद कराने और यहां लोकतंत्र को मजबूत करने और यहां के नागरिकों को बराबरी का अधिकार दिलाने के लिए हमारे पूर्वजों विशेष कर उलमा किराम ने जो कुर्बानियां दी हैं उन्हें भुलाया नहीं जा सकता है। चूंकि हमारे देश की व्यवस्था लोकतांत्रिक है, लोकतंत्र की रक्षा और संरक्षण के लिए उलेमा ने हमेशा संघर्ष किया है इसी संदर्भ में जमीअत उलमा कानपुर नगर द्वारा मतदाता सूची में प्रविष्टि के लिए जागरूकता रैली निकालकर लोगों को इसका महत्व बताया जा रही है क्योंकि हमारे देश में मतदान के द्वारा ही सरकारों का गठन होता है और मतदान के लिए सूची में नाम होना चाहिए। हमारे देश का हर वयस्क पुरूष-महिला अपने वोट के द्वारा सरकार बनाने और गिराने पावर रखता है वोट डालना हमारी राजनीतिक व समाजी ज़िम्मेदारी है अपने मताधिकार के प्रयोग के लिए हम खुद भी अपना नाम दर्ज करायें और अपने घर के लोगों को दोस्त और मित्रों को भी प्रोत्साहित करें। कुछ लोग ये भी सोचते हैं कि लाखों वोटों की तुलना में एक व्यक्ति के वोट की क्या स्थिति है? इससे देश और राष्ट्र के भविष्य पर क्या प्रभाव हो सकता है? लेकिन खूब समझ लीजिए कि अव्वल तो अगर हर व्यक्ति यही सोचने लगे तो ज़ाहिर है कि पूरी आबादी में किसी एक वोट का भी सही उपयोग नहीं हो सकेगा ये सोच सरासर गलत है क्योंकि मतदाता सूची में प्रविष्टि मताधिकार के अलावा भी बहुत महत्वपूर्ण है ये देश के निवासी होने का सबूत देता है और कई अवसरों पर यह आवश्यकता आती है। मौलाना ने हिदायत की कि देश की लोकतांत्रिक प्रणाली को मजबूत बनाने में जो जिम्मेदारियों हमारे ऊपर लागू होती हैं, हम उन्हें पूरी करें।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>