Saturday , 25 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
लखनऊ .पंचायत चुनाव का बिगुल बजा.चार चरणों में हों गे मतदान .

लखनऊ .पंचायत चुनाव का बिगुल बजा.चार चरणों में हों गे मतदान .

21.09.2015 snn यूपी में पंचायत चुनावों का एलान हो गया है। चुनाव चार चरणों में होंगे। पहले चरण का चुनाव  9 अक्‍टूबर को होगा। वहीं दूसरे, तीसरे और चौथे चरण का चुनाव क्रमश: 13, 17 और 29 अक्‍टूबर को होगा। इन चुनावों में होने वाली वोटिंग के लिए एक लाख 78 हजार 588 पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे। जिला और क्षेत्र पंचायत के करीब 80 हजार सदस्‍य पद के लिए होने वाली वोटिंग की काउंटिंग 1 नवंबर को की जाएगी। क्षेत्र पंचायत के 77 हजार 576 और जिला पंचायत के 3012 सदस्‍यों का चुनाव होना है। लोग अपने मताधिकार का प्रयोग सुबह 7 बजे से 5 बजे तक कर सकेंगे। चुनाव की घोषणा के साथ ही यूपी में आदर्श आचार संहि‍ता लागू हो गई।

राज्‍य निर्वाचन आयुक्‍त एसके अग्रवाल ने बताया कि चुनाव को पारदर्शी बनाने के लिए पहली बार वीडियोग्राफी कराई जाएगी। करीब 11 करोड़ 36 लाख वोटर इस बार के चुनावों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। चुनाव में कुल 11 करोड़ 36 लाख मतदाता हैं। इनमें 53.33 फीसदी पुरूष और 46.67 फीसदी महिला मतदाता हैं। वहीं, करीब 51.5 फीसदी वोटर युवा हैं। उन्‍होंने बताया कि चुनाव में 2 करोड़ 13 लाख नए मतदाता जोड़े गए हैं। इसके अलावा 1 करोड़ 84 लाख 96 हजार मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटा दिए गए हैं।

खर्च की सीमा बढ़ाई गई
बीते 2010 के क्षेत्रीय चुनावों में उम्‍मीदवार के खर्च की सीमा 25 हजार रुपए थी, जिसे अब बढ़ाकर 75 हजार कर दिया गया है। वहीं, जिला पंचायत के चुनावों में खर्च की सीमा 75 हजार थी, जिसे बढ़ाकर 1.5 लाख कर दिया गया है।

तैनात की जाएंगी इतनी पुलिस फोर्स 
चुनावों में हिंसा को देखते हुए काफी पुलिसफोर्स भी तैनात की जा रही है। इसमें जिला पुलिस के 70 फीसदी जवानों को ड्यूटी पर, जबकि 30 फीसदी जवानों को लॉ एंड ऑर्डर संभालने की जिम्‍मेदारी दी जाएगी। वहीं, 150 सीनियर अफसरों को पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात किया जाएगा, जिनमें 100 सीनियर आईएस और 50 सीनियर पीसीएस शामिल हैं। हालांकि, चुनाव आयोग ने राज्‍य सरकार से 50 और अफसरों के नाम मांगे हैं। इसके अलावा 139 कंपनी पीएसी को भी तैनात किया जाएगा। साथ ही शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए करीब 93 हजार होमगार्ड, एक लाख से ज्‍यादा चौकीदार और 13 हजार पीआरडी के जवानों की मदद ली जाएगी। इंटरडिस्‍ट्रिक्‍ट पुलिस और पुलिस ट्रेनिंग सेंटर्स से तैनात पुलिसकर्मी और ट्रेनीज को भी ड्यूटी पर लगाया जाएगा।

केंद्र ने अर्द्ध सैनिक बल देने से किया इंकार

how-evm-work

उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायती चुनाव में  मतदान के लिए प्रदेश सरकार द्वारा अर्द्ध सैनिक बलों को उपलब्ध कराये जाने की मांग को केंद्र सरकार ने सिरे से ख़ारिज कर दिया है/चार चरणों में होने वाले चुनाव प्रांतीय पुलिस की देख रेख में होंगे /श्री अगरवाल ने यह जानकारी देते हुए कहा की आयोग  ने केंद्र से ४२३ कम्पनी अर्द्ध सैनिक बालों की मांग की थी और इसके लिए दो बार चिठ्ठी भी लिखी गयी /बावजूद इसके केंद्र ने अर्द्ध सैनिक बल उपलब्ध कराने से इंकार करते हुए तर्क दिया की स्थानीय चुनाव  ले लिए अर्द्ध सैनिक बल नहीं उपलब्ध कराया जा सकता /हालिंकी इस से पहले उच्चतम न्यायालय के आदेश पर इन चुनाव में केन्द्रीय सुरक्षा बालों की तैनाती हो चुकी है /

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*