Monday , 6 July 2020
Breaking News
ट्विंकल की मौत का राज़ गहराया -जिलाधिकारी के आदेश के बाद दोबारा हो सकता है पोस्टमॉर्टेम।

ट्विंकल की मौत का राज़ गहराया -जिलाधिकारी के आदेश के बाद दोबारा हो सकता है पोस्टमॉर्टेम।

abu obaida कानपुर। क्राइस्ट चर्च कालेज में बीएससी प्रथम वर्ष की छात्रा ट्विंकल वर्मा  की मौत का रहस्य जानने के लिए उसके शव को कबर से निकाल कर फिर से पोस्टमॉर्टेम होगा। मृतका का दोबारा  पोस्टमॉर्टेम कराये जाने की अर्ज़ी परिजनों ने जिलाधिकारी को दी थी जिस पर उन्हों ने एसएसपी से आख्या मांगी थी। उम्मीद की जारही है कि डीएम द्वारा मांगी गयी आख्या पर एसएसपी छात्रा के शव को ज़मीन से निकाल कर पुनः पोस्टमॉर्टेम कराने का आदेश देर शाम दे दें गे।गौर तलब है कि  बी ६३५ विश्वबैंक कालोनी बर्रा निवासी ट्विंकल ३ मार्च की सुबह रेल बाजार थाना अंतर्गत नए पुल  पर ज़ख़्मी हालत में मिली थी जिसे टाटमिल स्थित हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था जहाँ शाम को उसकी मृत्यु हो गयी थी। पोस्टमॉर्टेम में छात्रा के शरीर में १८ चोटों की पुष्टि ही थी जब की मौत का कारण दम घुटना बताया गया था।वहीँ रेल बाज़ार पुलिस ने अपनी जांच में लिखा की छात्रा का दुपट्टा उसके गले में फंसा और उसका गला दबने से मौत हुई लेकिन परिजनों ने यह कह कर सनसनी पहला दी कि विश्व बैंक बर्रा निवासी विजय शुक्ला अंकित शर्मा अमित मिश्रा व एक अन्य ने उसका अपहरण  किया और उसके साथ बुरा काम करने के बाद गला घोंट कर लाश नए पुल पर फ़ेंक कर भाग गए।लड़की की मौत के बाद पुलिस कांस्टेबल पिता राजेंद्र बाबू ने उपरोक्त चारों के खिलाफ ह्त्या की नामज़द रिपोर्ट दर्ज करायी थी लेकिन जांच अधिकारी ने अपनी त्वरित रिपोर्ट में लिखा कि मौत एक्सीडेंट के कारण हुई और मुक़दमा ३०४ ए जैसी मामूली धारा में लिख कर पल्ला झाड़ लिया। बतादें की छात्रा के पिता पुलिस में सिपाही हैं और उन्हों ने अपने ही विभाग पर सही जांच न करने का आरोप लगाते हुए जांच को सवालों के घेरे में ला दिया है। बतादें कि मृतका के पक्ष में यंग लायर्स एसोसिएशन के आजाने से मामला तूल पकड़ गया और सीएमएम ने भी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए डीजीपी स्तर तक मामला पहुंचा कर निष्पक्ष जांच करने को कहा है।यंग लायर्स एसोसिएशन की ओर से रतन अग्रवाल संग्राम सिंह राजेंद्र मिश्रा महेंद्र सिंह जगदीश राजपूत रामविलास वर्मा अशोक सिंह आदि जिलाधिकारी से मिले थे और छात्रा की ह्त्या को एक्सीडेंट बताने वाली जाँच रिपोर्ट को गलत बताते हुए जिलाधिकारी को अवगत कराया था कि उसकी ह्त्या की गयी थी जिसमे लड़की के पिता ने चार लोगों को नामज़द किया था लेकिन पुलिस ने ह्त्या की बात को नकारते हुए जांच में एक्सीडेंट से मौत बता दिया । परिजनों ने बलात्कार की आशंका जताते हुए पोस्टमॉर्टेम में स्लाइड बनाने की गुज़ारिश की थी लेकिन डाक्टरों ने स्लाइड नहीं बनायीं। यहां यह भी जानना ज़रूरी है की इन्ही आरोपियों ने छात्रा को कुछ माह पूर्व छेड़ा था जिसके विरोध में उसने सरे आम थप्पड़ों से शोहदों की पिटाई की थी शायद इसी का बदला लेने के लिए दुस्साहसी शोहदों ने उसका अपहरण कर जान से मार दिया। अब जिलाधिकारी के निर्देश पर दोबारा पोस्टमॉर्टेम के बाद जांच में क्या निष्कर्ष निकले गा यह समय बताये गा।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>