Friday , 24 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर.कुत्ता करे वसूली’ से संजीबा का पुलिस पर प्रहार

कानपुर.कुत्ता करे वसूली’ से संजीबा का पुलिस पर प्रहार

abu obaida chief editor snn 98380 33331 भ्रष्ट सरकारी तन्त्र के खिलाफ अपने तीखे तेवरों के लिए दुनिया भर में मशहूर कानपुर के रंग कर्मी संजीबा ने अपने साथियों के साथ राम आसरे पार्क बड़ा चौराहा पर पुलिस कर्मियों द्वारा की जाने वाली वसूली को कुत्ते की वसूली करार देते हुए करारी चोट की है .सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में संजीबा और साथी नाट्य कर्मियों ने वाहनो से वसूली करने वाले पुलिस कर्मियों के किरदार कुत्ते की शक्ल में निभाते हुए दर्शकों को वसूली करके दिखाया .नाटक के ज़रिये बताया गया की पुलिस वाले वसूली में कुत्ता  बन जाते हैं और वाहनों के पीछे ठीक वैसे ही भागते हैं जैसे कुत्ता अपनी खुराक देख कर लार टपकाता है और न मिलने पर भोकना शुरू कर देता है कभी कभी तो पैसा न मिलने पर टांग पकड़ कर खींच लेता है.हम अपने पाठकों को बता दें की संजीबा जैसे महान रंग कर्मी समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार के लिए सालों से जंग करते चले आ रहे हैं और पुलिस व प्रशासन के विरुद्ध नाटक के ज़रिये अपनी बात कहने के चलते कई बार गिरफ्तार हो चुके हैं.आज भी संजीबा ने अपने नाटक में पुलिस कर्मियों की करतूत अपने नाटक के ज़रिये जनता तक पहुचाई जिसका विषय वाहनों और दुकानदारों से नाजायज़ वसूली था .संजीबा इस नाटक को पिछले कई सालों में सैकड़ों बार दोहरा चुके है.उनका ये नाटक ‘’पुलिस वाला कुत्ता  ‘’’’ जनता में बहुत लोकप्रिय है.इतना ही नहीं संजीबा जैसे कलाकार नुक्कड़ नाटक ही तक सीमित नहीं उन्हों ने अपने कई  नाटक विडियो में भी शूट किये हैं जिस को  सीडी के ज़रिये लाखों लोग देख चुके हैं.आज हुए नुक्कड़ नाटक में संजीबा ने बड़े पुलिस अधिकारियों से अपील की है की वे अपने निजी वाहनों से सड़क पर निकलें और पुलिस कर्मियों को खुले आम चौराहों पर रिश्वत लेते देखें और कार्रवाई करें वहीँ संजीबा ने कानपुर ज़ोन के आईजी आशुतोष पाण्डेय द्वारा जनहित में जारी एक नम्बर भरोसे का इस्तेमाल करने की सलाह आम जनता को दी है जिसमे कहा  गया है की आम जनता वसूली की फिल्म बना कर आईजी के whatsapp नं.7704020202 ओअर भेजें ताकि सरेआम पुलिस महकमे की नाक कटाने वाले पुलिस वालों पर विभागीय कार्रवाई हो सके .संजीबा ने नाटक में बताया की रिश्वात के पैसे बच्चों को खिलाना ठीक नहीं इस से बच्चों पर विपरीत असर पड़ता है. नाटक प्रस्तुति में संजीबा के साथ अपूर्व ,दुर्गेश व राजेश जैसे मंझे हुए कलाकार थे .

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*