Monday , 17 January 2022
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
लखनऊ .तीन के बाद शुरू हो सकती है राजा भैया के कैरियर की उलटी गिनती 

लखनऊ .तीन के बाद शुरू हो सकती है राजा भैया के कैरियर की उलटी गिनती 

abu obaida .लखनऊ.विधि विशेषज्ञों की राय अगर सही निकली तो प्रदेश सरकार के खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया का सुरेश यादव ह्त्या काण्ड में जेल जाना लगभग तय है.कबिनेट मंत्री पर इसके पहले भी पोटा सहित सैंतालिस मुक़दमे देश व प्रदेश की विभिन्न अदालतों में लंबित हैं. विगत वर्षों प्रताप गढ़ के कुंडा थाना क्षेत्र में हुई सुरेश यादव की हत्या में पुलिस की ओर से फाइनल रिपोर्ट लगने के बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने मामले को स्वतः संज्ञान में लेते हुए राजा भैया सहित चौदह अन्य लोगों को आगामी १४ अक्टूबर को न्यायालय में पेश होने के आदेश दिए हैं.राजा भैया पर १२०बी के तहत सीबीआई कोर्ट ने यह कार्रवाही की है.विधि विशेषज्ञों का कहना है की इस मामले में आजीवन कारावास का प्रावधान है.उनका कहना है कि नोएडा के बहुचर्चित आरूषी हत्याकांड में भी डाक्टर तलवार दंपत्ति पर भी आजीवान कारावास की कारवाही सीबीआई कोर्ट ने की थी.सवाल खड़ा होता है कि आगामी तीन अक्टूबर को सीबीआई की विशेष अदालत में  राजा भैया बतौर मंत्री हाज़िर होंगे या की एक आम विधायक  की हैसियत से?यह चर्चा इन दिनों राजनीत के गलियारों में परवान चढ़ चुकी है और लोग तरह तरह की अटकलें भी लगा रहे हैं/राजनीति के पायदान पर क़दम रखते ही राजा भैया  और अपराध का करीबी रिश्ता रहा है लेकिन बावजूद इसके उनकी लोकप्रियता मानी जाए या दहशत की वह लगातार पांचवीं बार प्रदेश की विधान सभा में कुंडा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते आ रहे हैं .आगामी तीन अक्टूबर के पहले प्रदेश सरकार के मुखिया अखिलेश यादव का क्या रुख होगा इसका फिलहाल सभी को बेचैनी से इन्तिज़ार है हालंकि प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने अदालत के फैसले पर यह कह कर अपनी सफाई दी की सरकार अदालत के फैसले का पूरा सम्मान करे गी/देखना है की अदालत के सम्मान की यह पहल तीन अक्टूबर के पहले होगी या उसके बाद/

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*