Friday , 17 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
धर्मस्थलों के पास शराब की बिक्री पर प्रतिबन्ध की मांग

धर्मस्थलों के पास शराब की बिक्री पर प्रतिबन्ध की मांग

कानपुर। मंदिर मस्जिद गुरुद्वारा चर्च व सभी तरह के शिक्षण संस्थानों से १०० मीटर के भीतर स्थित शराबखानों का विरोध करते हुए श्री गणेश पूजन महोत्सव समिति मुस्लिम युवजन सभा दयाल सेव संस्थान अखिल भारतीय पर्यावरण जनजागरण समिति श्री पंच प्यारे धर्म प्रचारक सभा ने संयुक्त रूप से नवाब गंज तिराहे से एक विशाल जुलूस निकाला और नवाब गंज के विभिन्न क्षेत्रों में भ्रमण  कर कंपनी बाग़ चौराहे पर शराब की सांकेतिक रूप से अर्थी जलाई। जुलूस  में शामिल सभी धर्मो के लोगों और समितियों के पदाधिकारियों ने हाथों में शराब के खिलाफ लिखी तख्तियां पकड़ राखी थीं जिनमे शराब की बुराई का वर्णन था। लोगों ने शराब से होने वाली बीमारियों और परेशानियों का ज़िक्र करते हुए लोगों से अपने साथ जुड़ने का आह्वान किया और शिला प्रशासन को शहर की सभी शराब की दुकानों को बंद किये जाने की मांग का ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि शराब सभी बुराइयों की जड़ है और समाज में फसाद पैदा करने वाली है जिसकी बिक्री पर सरकार को पूरी तरह रोक लगानी चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि शराब से सरकार को राजस्व मिलता है लेकिन लोगों की जान के बदले। अगर सरकार शराब से मिलने वाले राजस्व को इंसानी जान से कीमती समझती है तो उसे अपनी मानसिकता बदल कर किसी और स्रोत से टैक्स लगा कर इसकी पूर्ती की कोशिश करनी चाहिए। कहा गया कि आदेश है कि किसी भी धार्मिक स्थल या शिक्षण संस्थान से १०० मीटर से काम दूरी पर शराब या नशे का सामन नहीं बिकना चाहिए लेकिन ऐसा होता है और क़ानून को भूल कर धर्मस्थलों और कालेजों के पास धड़ल्ले से शराब सिगरेट और तम्बाकू बेचीं जारही है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*