Tuesday , 19 October 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
सत्यम न्यूज़ की खबर का असर – मुस्लिम इलाकों में नहीं हो रहे धमाके

सत्यम न्यूज़ की खबर का असर – मुस्लिम इलाकों में नहीं हो रहे धमाके

02abu obaida कानपुर। बीते दिनों थाना बेकन गंज अंतर्गत आने वाले रूपम मैरिज हाल से दुल्हन की विदाई समारोह में आतिश बाज़ी के ज़मीन  पर ही फटने  से हुए हादसे के बाद पुलिस कुछ ज़्यादा ही सतर्क हो गयी है।अब आलम यह है कि बैंड की आवाज़ सुनते ही पुलिस के सिपाही और दारोगा बारातियों से जाकर सख्त लहजे में आतिशबाजी छुड़ाने से मना कर देते हैं।नतीजे में बारात में छुड़ाने के लिए खरीदे गए धमाकेदार सुतली बम और आसमान में फटने वाले रॉकेट पैकिंग में ही बंद रह जाते हैं।
बतादें कि आम तौर पर मुस्लिम इलाकों में बारातियों द्वारा किये जाने वाले बैंड बाजे के हुड़दंग व घंटों तक की जाने वाली ज़मीनी व आसमानी आतिशबाजी को पुलिस नज़रअंदाज़ किये रहती थी। नतीजे में शराब के नशे और बैंड की धुन में मस्त बाराती कट्टों व लाइसेंसी असलहों से खुलेआम फायरिंग करके लोगों को दहशत में दाल देते थे। उन्हें इस बात का भी ख्याल नहीं रहता था कि रात के दो बजे तेज़ बैंड की धुन अंधाधुंध फायरिंग और तेज़ आवाज़ वाले ज़मीनी व आसमानी पटाखों की आवाज़ से आम लोगों या मरीजों को कोई दिक्कत हो सकती है। आप को जान कर हैरत होगी कि इस बाराती चांदमारी व आतिशबाजी में कई लोग गोली लगने से घायल भी हुए आतिशबाजी से घरों में आग तक लगी जिसकी पुलिस से शिकायत की गयी लेकिन पुलिस ने कभी गम्भीरता नहीं दिखाई। पुलिस की इसी लापरवाही ने हुड़दंगियों के हौसले बुलंद कर दिए और उनके द्वारा बारातों में धमाकों के ज़रिये पूरे अरमान निकाले जाते रहे लेकिन बीती ९ मई को इसपर काफी हद तक विराम तब लगा जब रूपम मैरिज हाल के बाहर की जारही आतिश बाज़ी का डब्बा ज़मीन पर पलट गया और आसमान में जाकर फटने वाले रॉकेट मैरिज हाल के सामने बैठे लोगों के शरीर पर जा कर लगे जिस से वह घायल हो गए। घायल होने वालों में पत्रकार व कई राजनितिक दलों के कार्यकर्ता भी शामिल थे। घटना के बाद सभी ने पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुलाया और सख्ती करने की मांग की। पुलिस ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए घायलों को कार्रवाई का आश्वासन दिया और दुसरे दिन से ही क्षेत्र में निगाह रखनी शुरू की। इस मामले को सत्यम न्यूज़  में प्रमुखता से छापा गया था जिसके बाद पुलिस ख़ास तौर पर बेकन गंज थाने के कर्मचारी हुड़दंगियों पर अपनी नज़र बनाये रहे। पठाखे से घायल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और समाजसेवी इरफ़ान जाहिदी शाहिद उर्फ़ बादशाह साहेब ए  आलम राशिद इल्मी शाहनवाज़ हुसैन कुरैशी इन्तिज़ार आलम कुरैशी ने सत्यम न्यूज़  का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि यह खबर का ही असर है जो पुलिस मुस्लिम इलाकों में होने वाली फायरिंग व आतिशबाजी पर अपनी पैनी निगाह बनाये हुए है और कोई भी बाराती इक्का दुका पटाखों के अलावा बड़े धमाके नहीं कर पारहा। वहीँ शादी हालों के आसपास रहने वालों ने सत्यम न्यूज़  की इस कोशिश का शुक्रिया अदा किया है जिस से अब रात में बैंड की आवाज़ और पटाखों की धमक सुनाई नहीं देरही। लोगों ने कहा कि अब वह सुकून से सोते हैं।

About admin

One comment

  1. shahnawaz khursheed

    Thanks to satyam news.
    For- muslim elako me nahi rahey dhamakey.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*