Tuesday , 21 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर. नवबस्ता डबल मर्डर में भतीजा ही निकला कातिल.साथी सहित गिरफ्तार .

कानपुर. नवबस्ता डबल मर्डर में भतीजा ही निकला कातिल.साथी सहित गिरफ्तार .

IMG-20150715-WA0057 copyABU OBAIDA १३ जुलाई को नव बस्ता के खाडेपुर में हुई उर्मिला देवी (५०)और उसकी बेटी श्वेता (२०) की ह्त्या के बाद घर से हुई लाखों की लूट का पर्दा फाश करते हुए पुलिस ने वारदात में कथित तौर पर हत्यारों द्वारा चाक़ू मार कर घायल किये गए भतीजे दीपेश  और उसके साथी अंशु को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूट का लाखों का माल भी बरामद कर लिया.याद दिला दें की १३ जुलाई की शाम फक्ट्री कर्मी शिव कुमार यादव की पत्नी उर्मिला और उनकी बेटी की गला दबा कर बड़ी बे रहमी से ह्त्या कर दी गयी थी वहीँ विरोध करने पर भतीजे दीपेश के हाथ बाँध कर चाक़ू से घायल कर बदमाश  फरार हो गए थे .घटना स्थल पर लगी भीड़ व पहुचे एसएसपीघटना के बाद पहुची पुलिस ,डाग स्क्वाड और फारेंसिक टीम ने बहुत बारीकी से साक्ष्य जुटाए थे और  घायल भतीजे को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया था.पुलिस ने घटना के बाद घायल दीपेश से पूछ ताछ की तो उसका व्यवहार संदिग्ध दिखा जिस पर कड़ाई से पेश आने पर उस ने कुबूल किया की चाची  और बहन की हत्याएं उसने अपने दोस्त अंशू के साथ मिल कर की थी.अस्पताल में इलाज के दौरान ही हिरासत में लिए गए दीपेश ने पुलिस को बताया की उसकी चाची और चचेरी बहन आये दिन उसका अपमान करती थीं अपने हिस्से से निकलने बैठने पर टोकती थीं जबकि मकान में उसके पिता का भी हिस्सा है .चाची उसे पानी भरने और और बिजली के इस्तेमाल पर भी अपमानित करती थी जिस के चलते उसके मन में दोनों के प्रति नफरत बैठ गयी थी. उसने अपने दोस्त के साथ मिल कर अपमान का बदला लेने के लिए योजना बनाई और १३ जुलाई को दोपहर जब चाची का बेटा कोचिंग चला गया तो मौक़ा पाकर अपने दोस्त अंशू को बुलाया और फिर लकड़ी के डंडे से दोनों पर वार कर बेहोश करने के बाद हाथ बांधे और गला दबा दिया.ह्त्या के बाद घर में रखा सोने चांदी का सामान लूटा और घटना को वास्तविक रूप देने के लिए अंशु से अपने हाथ बंधवाए और ब्लेड से पेट पर घाव बनवाया .इसके बाद घरसे लूटा गया माल लेकर अंशु चला गया इस बीच मृतका  का बेटा कोचिंग से लौटा तो उसने नाटक करते हुए बताया की कुछ नकाब पोश आये थे आते ही मुझ पर हमला कर दिया अन्दर देखो क्या हुआ ,बेटा जब अन्दर गया तो माँ और बहन की लाशें पड़ी थीं ,घर की अलमारियां खुली थी और संदूकों के ताले टूटे हुए थे.IMG-20150715-WA0058

इस वारदात को खोलने के लिए नवबस्ता एसओ राजदेव प्रजापति और उनकी टीम लगातार मेहनत कर रही थी दीपेश से पूछताछ में आखिर इस दोहरे ह्त्या काण्ड का खुलासा हो गया .पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है. एसओ राजदेव प्रजापति ने बताया की दीपेश श्री नारायण महाविद्यालय से ग्रेजुएशन कर रहा है जब की उसके साथ वारदात में शामिल अंशु किसी प्राइवेट फर्म में नौकरी करता है.

 

About admin

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*