Friday , 24 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
नरक बना यशोदा नगर का वार्ड 67

नरक बना यशोदा नगर का वार्ड 67

14-06-2013 कानपुर:- यदि आप ने नरक के दर्शन न किये हो तो हम आप को नरक के साक्षात दर्शन करवा सकते है! बस आप को कानपुर के दक्षिणी इलाके के गोपाल नगर यशोदा नगर के वार्ड 67 तक जाने की ज़हमत उठानी है! आप को बता दे की वार्ड 67 महाराजपुर विधान सभा की वो सीट है जिस पर भाजपा के विधायक श्री सतीश महाना विधानसभा चुनाव 2012 में रिकार्ड मतों से जीते थे! चुनावी अभियान में उन्होंने क्षेत्र में जबरदस्त विकास के वादे किये थे जिसमे इलाके की सड़के, गलिया, चमकाने के साथ सीवर लाइन व पेयजल की आपूर्ति के सपने दिखाये थे! कुछ सड़के बनाने का बाकायदा शिलान्यास किया गया! चुनाव बीते डेढ़ साल के लगभग समय होने को आया मगर सड़के अभी विधायक जी की जेब से बाहर नहीं आई है!रही बात जलापूर्ति की तो राज सरकार व स्थानी विधायक और नगर निगम व जल निगम की उदासीनता के बावजूद वहा प्रयाप्त मात्रा में पानी मौजूद है मगर लोगो के घरो में नहीं बल्कि गड्ढायुक्त सड़को पर कुदरत की महेरबानी से! ये वो इलाका है जहा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रिय महासचिव एवं उत्तरप्रदेश में कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त श्री राम असरे कुशवाहा का निवास है! कितने अफ़सोस की बात है के महाराजपुर विधानसभा और अकबरपुर लोकसभा के अंतर्गत आने वाले वार्ड 67 के निवासियों ने अपने कीमती वोटो से कांग्रेस के राजा राम पाल को सांसद बनाया, भारतीय जनता पार्टी के सतीश महाना को विधानसभा की कुर्सी पर विराजमान कराया और बी जे पी की आशा तिवारी को पार्षद चुन कर नगर निगम सदन में अपनी आवाज़ बना कर भेजा! विडम्बना देखिये के सांसद, विधायक और पार्षद को सत्तासीन करने वाले गोपाल नगर यशोदा नगर के निवासी नारकीय जीवन जीने को मजबूर है! हमारी भावी पीढ़ी बसते लेकर घुटनों तक पानी मांझ कर स्कूल जाने को मजबूर है! वही दफ्तर जाने वाले गड्ढायुक्त सड़को पर भरे पानी से बमुश्किल बचते बचाते अपने गंतव्य तक पहुचते है! माताए अपने बच्चो को स्कूल भेजने के बाद आशंकित रहती है की उनका लाडला सकुशल घर पहुचेगा! टूटी सड़के और 24 घंटे जल भराव से इलाके में महंगी दरो पर ली गई दुकानों में करोड़ो का माल तो भरा है मगर बदहाल स्तिथि के चल्ते कारोबारी घाटा उठाने को मजबूर है! कुछ ऐसी दुकाने है जहा हफ्तों से बोहनी तक नहीं हुई! इस हालत में खून के आंसू पीने को मजबूर व्यापारी पलायन को मजबूर है! ऐसा नहीं है की इस बदहाली की दास्ताँ पार्षद, विधायक, सांसद व राज्यसरकार तक ज्ञापनो के माध्यमो से नहीं पहुचाई गई! इतनी कोशिशो के बावजूद भी इलाके में विकास के नाम पर एक ईट भी नहीं राखी गई! वही बड़े जोर शोर के साथ इलाके में विकास के नाम पर लगाये गए शिलान्यास के पत्थर लोगो को मुह चिढ़ा रहे है! क्षेत्रीय लोग कब तक इस नरक को भोगेंगे इसका जवाब कौन देगा???????????????….. Report :- Abu Obaida, 9838033331.

About admin

One comment

  1. ye haal ……..pure saher ka hai,,,,,,,,,,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*