Friday , 17 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर। लाखों फ़रज़न्दगाने तौहीद ने ईद की नमाज़ अदा की।

कानपुर। लाखों फ़रज़न्दगाने तौहीद ने ईद की नमाज़ अदा की।

IMG_0112abu obaida 9838033331 snn रमज़ान के ३० रोज़ों और पूरे महीने की इबादत के बदले अल्लाह ताला की तरफ से आता किये गए ईद के दिन लाखों फ़रज़न्दगाने तौहीद ने  अदब ओ एहतराम के साथ नमाज़े दोगाना अदा की। बड़ी ईदगाह बेना  झाबर में नमाज़ का समय सुबह ९ बजे निर्धारित था मगर इस साल अपार भीड़ के लगातार पहुचने पर इंतिज़ामिया ने समय बढ़ा कर साढ़े नौ बजे कर दिया। भीड़ का आलम ये था की ईदगाह के बाहर सफें बढ़ते बढ़ते लकड़ मंडी रोड तक आगयीं वहीँ चुन्नी गंज की ओर तथा बजरया थाने के पीछे  पी रोड जाने वाली सड़क तक लोगों ने जानमाज़ बिछा ली। लगभग साढ़े नौ बजे जैसे ही कारी इलाही साहब ने सदा ए  अलल्हो अकबर बुलंद की लाखों हाथ उठे कानो तक गए और नियत बाँध ली ,पिछले चालीस वर्षों से भी अधिक समय से ईदगाह में इमामत कर रहे  कारी इलाही नक्श बंदी की खूबसूरत किरात सुन कर सभी झूम उठे। इमाम साहब ने क़ुरआन की आयतों के साथ नमाज़ पूरी की। दो रकअत नमाज़ के बाद सभी नमाज़ियों ने ईद का ख़ुत्बा बड़े अदब के साथ सुना ,ख़ुत्बे के बाद इमाम साहब ने दुनिया में सभी मरीज़ों को सेहत याब  करने की दुआ मांगी। इमाम ईदगाह ने अल्लाह से दुआ की ,या अल्लाह हमारे मुल्क को अमन चैन का गहवारा बना दे ,हमारे मुल्क को आसमानी आफत से बचा ,सभी मस्जिदों  को आबाद कर ,बेटियों की शादी में आसानी फरमा ,लोगों को खुश हाल कर आदि। दुआ खत्म होते ही वो वक़्त आया जिसका सभी साल भर इंतज़ार करते हैं यानी एक दुसरे को गले लगा कर ईद मुबारक कहते हैं। आप यक़ीन मानिए की कानपुर की बड़ी ईद गाह में हज़ारों की संख्या में गैर मुस्लिम दोस्त  कुर्ते पैजामे और सरों पर टोपी लगा कर आते हैं  सुबह ६ बजे के आस पास  बाहर कैम्पों में नमाज़ खत्म होने का इंतज़ार करते हैं और कोशिश करते हैं की सब से पहले अपने मित्रों को वो गले लगा कर ईद की बधाई दें। ऐसा खूबसूरत मंज़र सभी अपनी आँखों में बसा लेना चाहते हैं , एक जैसी वह भूषा से कोई नहीं बता सकता की इनमे कौन हिन्दू है कौन मुसलमान ,सब के सब बस दोस्ती और मोहब्बत के रंगों में सराबोर होते हैं और  वहीँ से अपने मित्रों के साथ उनके घरों को जाते हैं फिर सिवइयों का दौर  चलता है बच्चों को ईदी देने का सिलसिला होता है ,विदा लेते समय अगली ईद के जल्दी आने की कामना की जाती है। IMG_0396

ये तो हुई आम लोगों की बात अब राजनितिक दलों की बात करें तो ईद गाह के बाहर रात से ही सभी पार्टियां अपने कैम्प लगा कर लोगों को ईद की मबारकबाद देते हैं, इस साल भी लगभग सभी सियासी पार्टियों ने कैम्प लगा कर नमाज़ियों को मुबारकबाद पेश की। कांग्रेस के कैम्प में श्रीप्रकाश जायसवाल ने  गले लगाया तो समाजवादी पार्टी की ओर से कई नेता मौजूद थे। सपा के कैम्प में नगर महा सचिव अंबर त्रिवेदी ने लोगों से खुशियाँ साझा की।
IMG_0411IMG_0024जिला प्रशासन का कैंप। 
नमाज़ के शान्ति और सद्भावना के साथ सम्पन्न होने के बाद लोगों का हुजूम प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारियों साथ गले मिलने को आतुर दिखा। छोटे बच्चों ने जिलाधिकारी रोशन जैकब सहित कई अधिकारियों को फूल भेंट किये जिन्हे बड़ी मोहब्बत से क़ुबूल किया गया।IMG_0299छोटे बच्चों का  झुकाव सब से ज़्यादा  डीएम  रोशन जैकब की तरफ था डी एम ने भी बड़े प्यार से सभी बच्चों के फूल स्वीकार किये और सब के सरों पर हाथ फेर ईद की मुबारकबाद दी। इस अवसर पर आई जी जोन कानपुर आशुतोष पाण्डेय,एसएसपी शलभ माथुर ,एडीएम अविनाश सिंह ,सीएमओ आर पी यादव सहित कई पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने लोगों को बधाई दी। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा की जिस तरह लोगों ने पूरे रमज़ान आपसी भाई चारे और सौहार्द को क़ायम रखा वो ईद के त्यौहार और आने वाले अन्य त्योहारों में भी क़ायम रखे।
एसएसपी शलभ माथुर ने कहा की कानपुर की जनता से उम्मीद करते हैं की  गंगा जमुनी तहज़ीब आगे भी देखने को मिले गी।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*