Sunday , 24 October 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
मशहूर शायर डा.मुनव्वर राना ने लाइव शो में  साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाया

मशहूर शायर डा.मुनव्वर राना ने लाइव शो में साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाया

abu obaida 98380 33331 दिल्ली /18.10.2015 . दादरी के बिसहाडा गाँव में २८ सितम्बर को वायुसैनिक के पिता अखलाक की गौमांस खाने की अफवाह पर सैकड़ों लोगों ने ईंट पत्थर से कुचल कर निर्मम ह्त्या कर दी थी और उसके बेटे दानिश को बेरहमी से मार मार कर अधमरा कर दिया था /उस घटना की निंदा देश और दुनिया ने की थी जिसमे भारत के नामचीन साहित्यकार भी शामिल थे/घटना से दुखी साहित्यकारों ने सरकार से मिले साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाना शुरू कर दिए जिनकी संख्या आज डा.मुनव्वर राणा के पुरूस्कार लौटाने से २८ हो गयी /देश के मशहूर शायर और प्रख्यात साहित्यकार मुनव्वर राना ने abp न्यूज़ चैनल के लाइव शो में अपना साहित्य अकादमी पुरस्कार व एक लाख रूपये का चेक भी लौटा दिया/ चैनेल ने आज  देश के कई जाने माने साहित्यकारों को अपने शो पर आमंत्रित कर  दादरी काण्ड पर उठे बवाल और गन्दी सियासत व साहित्यकारों के विरोध पर बहस रखी थी इसी लाइव शो के दौरान मुन्नवर राना ने अचानक अपना साहित्य अकादमी पुरुस्कार का मोमेंटो और चेक चैनल की एंकर को सौंपते हुए कहा की इस पुरस्कार को अकादमी तक पहुच्वा दें और चेक किसी भी ज़रुरत मंद को भेज दें /

इस शो में साहित्य जगत की कई जानीमानी हस्तियाँ मौजूद थीं जिन्हों ने साहित्यकारों द्वारा अपने सम्मान को लौटाने को जाएज़ ठहराया ,वहीँ शो में मौजूद भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा साहित्यकारों द्वारा लौटाए गए सम्मान को प्रायोजित बताते रहे उनका तर्क था की इस से पहले हुई बहुत सी घटनाओं के बाद किसी ने भी अपना पुरूस्कार नहीं लौटाया आखिर अब ऐसा क्या होगया जो एक के बाद एक २८ साहित्यकार अपना सम्मान लौटा चुके हैं ?

शो खत्म होने के बाद मशहूर शायर मुनव्वर राना ने मीडिया से बात करते हुए कहा की दादरी की घटना के बाद डर लगने लगा है की पता नहीं कब एक उन्मादी भीड़ उनके घर का दरवाज़ा खुलवाये और गौ हत्यारा बता कर जान से मार दे /राना ने बताया की वह १० अक्टूबर को एक मुशायरे में पाकिस्तान जाने वाले थे लेकिन इस डर से नहीं गए की लौट कर आने के बाद पता नहीं लोग क्या क्या इलज़ाम लगाएं गे/ राना ने कहा की ज़िन्दगी में पहली बार कोई सम्मान लिया था जिसे वह लौटा रहे हैं और रहती ज़िन्दगी तक कभी कोई सम्मान नहीं लें गे /यह भी कहा की सियासत के इस गंदे खेल में देश बदनाम हो रहा है /

About admin

One comment

  1. Guddu bhai masha Allah face book per aur Satyam news . com per chsye hue ho congrates keep it up

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*