Saturday , 25 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
बिल्डिंग में स्लेब डालते समय मसाला ट्राली के साथ गिरा किशोर, मौत

बिल्डिंग में स्लेब डालते समय मसाला ट्राली के साथ गिरा किशोर, मौत

कानपुर। कल्याणपुर थाना क्षेत्र में आवास विकास परिषद द्वारा बनवाए जा रहे बहुमंजिले अपार्टमेंट में मसाला लिफ्ट के साथ नाबालिंग मजदूर नीचे आ गिरा। घटना देख वहां काम कर रहे मजदूर व स्टाॅफ प्रबंधन गंभीर हालत में उसे अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। नाबालिंग मजदूर से अपार्टमेंट में काम कराने के चलते आवास विकास व कानट्रेक्टर कुछ भी बोलने से बच रहे है।
कल्याणपुर के आवास विकास में गंगा इनक्लेव नाम से आवास विकास द्वारा अपार्टमेंट बनवाए जा रहे हैं। बहुमंजिली इमारत का निर्माण कार्य आर.एस. कानट्रेक्टर को मिला है। आरोप है कि कानट्रेक्टर निर्माण के दौरान बाल मजदूरों से काम ले रहा है। इसी का नतीजा आज उस वक्त देखने को मिला जब छत्तीसगढ़ का रहने वाला 14 वर्षीय किशोर दिलहारन लिफ्ट से सीमेंट का मसाला लेकर ऊपर जा रहा था। मसाला से लोड ट्राली के तीसरी मंजिल पर पहुंचते ही अचानक आवाज के साथ लिफ्ट टूट गई और किशोर मजदूर नीचे आ गिरा। घटना देख अपार्टमेंट में काम कर रहे किशोर के जीजा अजय व बहन सविता सहित अन्य मजदूर पहुंच गए और मौजूद स्टाॅफ कानट्रेक्टर कर्मियों के सहयोग से गंभीर हालत में एसपीएम अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डाक्टरों ने किशोर को मृत घोषित कर दियाा। घटना के संबंध में इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह का कहना है कि तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
लोड अधिक होना बना दुर्घटना का कारण
अपार्टमेंट में काम करने वाले मजूदरों की माने तो यहां पर स्लेब डालने का काम चल रहा है। उसी का मसाला बनाकर मजदूर किशोर दिलहारन लिफ्ट से ऊपर ले जा रहा था। तभी तीसरी मंजिल पर पहुंचते ही लिफ्ट की ट्राली में क्षमता से अधिक लोड होने के कारण वह टूट गई और किशोर उसके साथ नीचे आ गिरा। कुछ मजदूरों का कहना है कि ठेकेदार के गुर्गें जानबूझकर ट्राली में अधिक मसाला लोड करवाकर ले जाने को कहते है। यहीं कारण ही आज हादसे का कारण बन गया और एक बेकसूर की मौत की वजह भी बना।
ठेकेदार करवाता रहा इलाज
किशोर के जीजा का कहना है कि साले की मौत होने के बावजूद ठेकेदार डाक्टरों से मिलकर उसके जीवित होने का दिलासा देता रहा है और घंटों आईसीयू में रखवा इलाज कराने का ढोंग करता रहा
बालश्रम का हो रहा उलंघन
निर्माणाधीन अपार्टमेंट गंगा इनक्लेव में सालों से बाल श्रम कानून का उलंघन कर अधिकारियों को  मुहं चिढ़ाया जा रहा है। यहां पर करीब एक साल से मृतक किशोर अपने जीजा के साथ मजदूरी कर रहा था  हैरत की बात है कि इतना समय बीत जाने के बाद भी किसी भी अधिकारी व जिम्मेदार को यहां पर बाल श्रमिकों द्वारा काम किए जाने की भनक तक नहीं लगी। वहीं घटना के बाद मामले में जिम्मेदार अधिशाषी अभियंता व आवास विकास के अफसर भी चुप्पी साध चुके है।

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*