Friday , 24 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
मदरसा प्रिंसिपल ने कार का चालान किये जाने पर बिल्हौर पुलिस के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन दिया

मदरसा प्रिंसिपल ने कार का चालान किये जाने पर बिल्हौर पुलिस के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन दिया

abu obaida 9838033331 बिल्हौर पुलिस पर अवैध वसूली और भेद भाव का आरोप और  मानवाधिकार कार्यकर्त्ता व् मदरसा प्रिंसिपल  मुफ़्ती इसराफील की कार का चालान किये जाने से नाराज़ नेशनल हुमन राइट्स एक्शन कमेटी ने कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी के माध्यम से उत्तरप्रदेश के राज्यपाल को एक शिकायती ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बिल्हौर थाना इंचार्ज पर आरोप लगाया गया है की वो सरेआम वाहनो से अवैध  वसूली करते है जिस से क्षेत्र में जाम लगता है ,ज्ञापन में १० जून को एस ओ बृजेश यादव द्वारा बिल्हौर चौराहे पर गाडिओं से की जा रही अवैध  वसूली का ज़िक्र किया गया है जिसका विरोध करने पर मदरसा प्रिंसिपल और मानवाधिकार कार्यकरता मुफ़्ती मोहम्मद इसराफील की कार का चालान सिर्फ इस लिए कर दिया गया की उनकी कार पर संस्था का लोगो लगा था। ज्ञापन में कुछ सवाल पूछे गए हैं जिन में मुख्य रूप से पूछा  गया है की क्या ,उत्तरप्रदेश में मानवाधिकार जागरूकता पर प्रतिबंध है?

क्या उत्तरप्रदेश में मानवाधिकार संगठन का लोगो वर्जित है?
क्या सैद्धांतिक रूप से पुलिस मानवाधिकार की रक्षा कर रही है ?
साथ ही सत्ता पक्ष से जुड़े लोगों की कारों में दलों के नाम ,हूटर, अवैध रूप से लाल बत्तियां आदि पर जी ओ पर स्पष्टीकरण की मांग की गयी है। ज्ञाओां देने वालों में मुख्य रूप से उस्मान अली,डा.तौहीद आलम लिम,डा.अभिनव सिंह,राजेंद्र कुमार गुप्ता ,इरशाद अली एडवोकेट फूल प्रकाश शर्मा एडवोकेट मौजूद थे। इस मामले की सही जानकारी के लिए सत्यम न्यूज़ ने बिल्हौर एस  ओ से फ़ोन के ज़रिये सम्पर्क किया मगर उन्हों ने फ़ोन नहीं उठाया .

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*