Friday , 6 December 2019
Breaking News
मायावती भ्र्ष्टाचार की देवी -अमित शाह

मायावती भ्र्ष्टाचार की देवी -अमित शाह

knp-photo-no-8कानपुर, 14 अक्टूबर । बौद्ध भिक्षुओं के आर्शीवाद से दलित व अन्य पिछड़ा वर्ग एकजुट हुआ और उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनी। लेकिन सत्ता में आते ही मायावती  महात्मा बुद्ध के सिद्धांतों को भूलकर केवल धन उगाहने तक ही सीमित रह गई। अब भदंतों के आर्शीवाद से यूपी में कमल खिलने जा रहा है। यह बात कानपुर में आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कही।
सारनाथ से 24 अप्रैल को शुरू हुई धम्म चेतना यात्रा का समापन कानपुर में शुक्रवार को हुआ। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शिरकत की । शाह ने अपने सम्बोधन में समाजवादी सरकार की कानून व्यवस्था को तो आड़े हाथ लिया ही लेकिन उनके मुख्य निशाने पर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती रही। अध्यक्ष ने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश का प्रभारी रहा हॅूं यहां पर बसपा के उत्थान पर अध्ययन किया तो पता चला कि उत्तर प्रदेश महात्मा गौतम बुद्ध का प्रदेश है। जिसके चलते बौद्ध भिक्षुओं ने पैदल व साइकिल से चलकर बुद्ध के सिद्धांतों जन-जन तक पंहुचाया और काशीराम के नेतृत्व में गरीब शोषित वर्ग जुड़ गया और पार्टी सत्ता में आ गई। लेकिन सत्ता में आने के बाद सबसे ज्यादा अत्याचार इसी वर्ग को झेलना पड़ा और मायावती अपनी तिजोरी भरने में मस्त रही। बहन जी की इस करतूत को हमने उजागर किया तो लोकसभा चुनाव में उसका सूपड़ा साफ हो गया और जनता ने भाजपा के 73 प्रत्याशियों को लोकसभा में पंहुचाया। कहा कि अब तो बौद्ध भिक्षुओं का आर्शीवाद भाजपा को मिल गया है। जिससे यह दावे के साथ कह रहा हॅूं कि उत्तर प्रदेश की अगली सरकार भाजपा की ही बनेगी। अंत में कार्यक्रम में आए दलितों से कहा कि कानपुर की धरती से ऐसा जय घोष लगाएं कि दिल्ली में बैठी मायावती के कानों तक यह गूंज पहुंचे। कार्यक्रम का शुभांरम्भ दीप व बाबा साहब, गौतम बुद्ध की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर हुआ।
पहले कुनबा संभाले अखिलेश
मंच से अपने भाषण में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सपा सरकार पर तीखी तंज कसे। कहा कि जब अपना कुनबा ही नहीं संभाल पा रहे है अखिलेश प्रदेश क्या संभालेंगे। घर की लड़ाई ही नहीं शांत हो रही, ऐसे में प्रदेश की कानून व्यवस्था और अत्याचार पर रोकथाम व जनता का क्या ख्याल रखेंगे।
भ्रष्टाचार की देवी नहीं कर सकती विरोध
शाह ने कहा कि प्रदेश में विपक्ष पार्टी होने के बावजूद मायावती सपा का विरोध नहीं कर सकती। क्योंकि वह खुद भ्रष्टाचार की देवी है। ऐसे में उत्तर प्रदेश की जनता का विकास सम्भव नहीं है। भाजपा के अलावा यूपी का विकास नहीं हो सकता। वहीं 10 साल तक मायावती ने उसी कांग्रेस का समर्थन किया जिसने सदैव अम्बेडकर विरोध किया

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>