Friday , 24 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
महिला टिकेट निरीक्षक ने शताब्दी एक्सप्रेस में कानपूर जीआरपी सिपाही को पीटा

महिला टिकेट निरीक्षक ने शताब्दी एक्सप्रेस में कानपूर जीआरपी सिपाही को पीटा

kanpur .19.04.2015 दिल्ली से कानपूर आ रही स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस में महिला टिकेट चेकर और कानपूर के जीआरपी सिपाहियों का विवाद हो गाय। महिला टी सी ने कानपूर जीआरपी को फ़ोन करके अपने साथ मार पीट अभद्र व्यव्हार की जानकारी दी तो कानपूर जीआरपी में हड़कम्प मच गाय। ट्रेन के कानपुर पहुँचते ही जीआरपी ने उस बोगी को घेर लिया जिसमे अभद्रता करने वाले सिपाही मौजूद थे। गाडी रुकते ही महिला टिकेट निरीक्षक का ट्रैन के गेट परही सिपाही से विवाद होने लगा और इसी बीच महिला टी टी ने सिपाही को झन्ननाते दार थप्पड़ जड़ दिया। नज़ारा देख कानपूर जीआरपी इंस्पेक्टर त्रिपुरारी पाण्डेय ने किसी प्रकार सिपाही और रेलकर्मी को अलग किया और थाने ले आये। महिला ने पूरा थाना सर पर उठा लिया और सिपाहियों पर अपने साथ मारपीट और अभद्र व्यवहार का आरोप लगाया। वहीँ आरोपी सिपाहियों ने जब मामले की जानकारी दी तो मामला पूरी तरह से उल्टा पाया गया। जीआरपी कानपूर के सिपाही नरोत्तम और ेबदुल कल शाम स्वर्ण शताब्दी की सुरक्षा स्कोर्ट के तौर पर गए थे.आज सवेरे शताब्दी एक्सप्रेस जैसे ही अलीगढ स्टेशन पहुंची तो वहां से सचिन नाम का यात्री गाडी में सवार हुआ और टिकेट चेकर से लखनऊ तक की रसीद काटने को कहा। मगर टिकेट निरीक्षक ने उसे रसीद देने के बजाये पैसे ले कर ऐसे ही यात्रा करने को कहा। यात्री पैसे दे कर बोगी में इधर उधर सीट खोजने लगा तो स्कोर्ट में चल रहे सिपाही नरोत्तम ने उन्हें टोका और टिकेट दिखने को कहा यात्री ने सिपाहियों को बताया की उसके पास सुपर फ़ास्ट गाडी का टिकेट है और वो मैडम को जुर्माने के पैसे दे चुका है।सिपाही ने रसीद दिखने को कहा तो यात्री ने कहा की रसीद अभी नहीं मिली है सिपाहियों ने जब ड्यूटी पर मौजूद महिला कर्मी से रसीद के बारे में पुछा तो वो भड़क गई और अपने काम से काम रखने को कहा इसी बात पर सिपाहियों और महिला रेलकर्मी का विवाद होने लगा। थोड़ी देर तू तू मैं मैं के बाद टिकेट निरीक्षक ने जीआरपी कानपूर को फ़ोन कर के अपने साथ मारपीट की जानकारी दी। पूछताछ में सुपरफास्ट गाडी के टिकेट पर शताब्दी में सफर कर रहे सचिन ने भी जीआरपी इंस्पेक्टर को सच्चाई बताई। अच्छी तरह मामले को समझने के बाद थप्पड़ खाए सिपाही की रेलवे के अस्पताल में मेडिकल जांच हुई। महिला रेल कर्मी के खिलाफ ३३२।,३८४ और ब्रष्टाचार की धरा ७ के तहत मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है।.abu obaida 9838033331

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*