Sunday , 27 May 2018
Breaking News
जमीयत काअमन व एकता सम्मेलन दिल्ली में 29 अक्टूबर को

जमीयत काअमन व एकता सम्मेलन दिल्ली में 29 अक्टूबर को

जमीअत उलमा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष मौलाना मुहम्मद मतीनुल हक उसामा साहब कासमी कार्यवाहक काजी ए शहर कानपुर ने कहा कि जमीअत उलमा ए हिन्द के बुनियादी मुद्दों से लेकर इसके निर्माण कार्याें तक सबसे प्रमुख बात यह है कि अकाबरीन ए जमीअत हमेशा सीरते रसूलल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और सहाबा व बुजर्गाने दीन के कामों को आदर्ष मानकर योजना बनाते हैं। अपने दीन और ईमान, अपनी पहचान, अपनी संस्कृति के संरक्षण के साथ पूरे विष्व विषेषकर अपने देश में शांति , प्रेम और भाईचारा को बढ़ावा देने और देश से हार्दिक प्रेम इसके विकास और रक्षा के लिए हर तरह की कुर्बानी देना अपना धार्मिक कर्तव्य समझते हैं। देश के मौजूदा माहौल में जबकि कुछ शक्तियां घृणा और सांप्रदायिकता का जहर पूरे समाज में फैलाने की कोशिश में लगी हैं ऐसे में जमीअत उलमा ए हिन्द के अध्यक्ष मौलाना क़ारी सैयद मुहम्मद उस्मान मन्सूरपुरी और हजरत मौलाना सैयद महमूद मदनी महासचिव जमीअत उलमा ए हिन्द और उनके सारे साथी बधाई के पात्र हैं, जिन्होंने 29 अक्टूबर बरोज इतवार इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम दिल्ली में अमन व एकता सम्मेलन का फैसला करके देशव्यापी स्तर पर इस अभियान को चलाने का निर्णय किया है। मौलाना उसामा ने लोगों से 29 अक्टूबर बरोज इतवार इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम नई दिल्ली में होने वाले इस ऐतिहासिक शांति एकता सम्मेलन में बड़ी संख्या में पहुंचने की अपील की। जमीअत उलमा के सचिव क़ारी अब्दुल मुईद चैधरी ने बतलाया कि प्रदेष अध्यक्ष मौलाना उसामा क़ासमी पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं जहां वह 26 अक्टूबर को दीनी तालीम बोर्ड जमीअत उलमा ए हिन्द की बैठक में, 27 को कार्यसमिति जमीअत उलमा हिन्द, 28 को कार्यकारिणी (जनरल बॉडी) और 29 अक्टूबर को अमन व एकता सम्मेलन में उपस्थित रहेंगे। जबकि कानपुर यूनिट के कार्यकारिणी सदस्य 27 को रवाना होंगे और शहर से बड़ी संख्या में लोग सम्मेलन में भाग लेने के लिए 28 अक्तूबर को रवाना होंगे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>