Wednesday , 8 December 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
इलाहबाद .दंगा कंट्रोल करने में पुलिस फँसी ?

इलाहबाद .दंगा कंट्रोल करने में पुलिस फँसी ?

IMG-20150626-WA0050इलाहबाद . friday 26.06.2015 हाथों में केसरिया झंडा लिए दंगाई जब सड़कों पर निकले और आग जनी शुरू की तो पुलिस ने उसे बड़ी मशक्क़त के साथ काबू किया और कई दंगाइयों को गिरफ्तार किया .दंगाइयों को कंट्रोल करने के दौरान पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े और कई राउंड फायरिंग करनी पड़ी तब जा कर स्थिति को काबू में किया जा सका .दुकानों और मकानों में लगी आग को फायर ब्रिगेड ने बड़ी मुस्तैदी के साथ बुझाया.दंगा ग्रस्त क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया .चौंकिए मत एसा हकीकत में नहीं बल्कि इलाहाबाद पुलिस लाइन में आयोजित माक ड्रिल में किया गया.पुलिस ने अपनी दंगा नियंत्रण स्कीम परखने के लिए इस माक ड्रिल का आयोजन कया था मगर ये माक ड्रिल उस समय हिन्दू संगठनों के निशाने पर आ गया जब इस ड्रिल में नकली दंगाइयों के हाथ में केसरी रंग के झंडे दिखे .विश्व हिन्दू परिषद् ,भाजपा व् अन्य संगठनों ने कड़ी प्रतिक्रया व्यक्त करते हुए कहा की ये हिन्दू भावनाओं को चोट पहुचाने का कृत है ,इस ड्रिल में इस्तेमाल झंडों ने एक समुदाय की भावनाओं को आहात किया है जिस की घोर निंदा की जाती है .बीजेपी यूपी अध्यक्ष लक्ष्मी कान्त बाजपेयी ने इलाहाबाद के एसएसपी के एस इमैनुअल को तुरंत सस्पेंड करनी की मांग की है .मीडिया ने भी इस खबर को प्रमुखता से दिखाया जिस पर इलाहाबाद के एसएसपी ने कहा की की ये माकड्रिल किसी की भावनाओं को आहात करने के लिए नहीं थी सब कुछ सांकेतिक था .IMG-20150626-WA0055

अप को बता दें की इए से पहले कुछ माह पूर्व गोरखपुर में आतंकियों को बिल्डिंग से पकड़ने की माक ड्रिल हुई थी जिस में आतंकियों को दाढ़ी और नमाज़ में इस्तेमाल होने वाला चार खाने वाला रुमाल इस्तेमाल किया था ये अलग बात है की वो खबर कुछ टीवी चैनलों ने दिखा कर अपनी ज़िम्मेदारी पूरी की थी मगर इन संगठनों ने उस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी ,उस खबर के बाद भी एक समुदाय को ठेस पहुची थी मगर किसी बड़े मुस्लिम संगठन ने ज्यादा तवज्जोह नहीं दी .

इस मामले में बुद्धिजीवियों का कहा है की माक ड्रिल हो मगर किसी की धार्मिक भावनाएं आहात नहीं होनी चाहिए .अगली बार झंडे की जगह पुराने कपडे इस्तेमाल करें तो बेहतर हो गा IMG-20150626-WA0056

About admin

One comment

  1. I appreciate gud job

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*