Monday , 6 December 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
मध्य प्रदेश में बारिश का कहर: उज्जैन में शिप्रा उफान पर, कई मंदिर डूबे

मध्य प्रदेश में बारिश का कहर: उज्जैन में शिप्रा उफान पर, कई मंदिर डूबे

snn इंदौर/भोपाल: मध्य प्रदेश में पिछले दो दिनों से जारी बारिश ने कहर बरपा दिया है। बीते 24 घंटों में भोपाल, इंदौर, उज्जैन, विदिशा समेत प्रदेश के कई शहरों में भारी बारिश रिकॉर्ड की गई। उज्जैन में शिप्रा और विदिशा में बेतवा नदी उफान पर चल रही है। पूरा उज्जैन शहर पानी-पानी हो गया है। शिप्रा का पानी शहर के कई निचले इलाकों में घुस चुका है और नदी किनारे बने मंदिरों के सिर्फ गुंबद ही डूबने से बचे हैं। यहां प्रदेश में सबसे ज्यादा 24 घंटे में 17.5 इंच बारिश हुई है। इंदौर की सभी सड़कों पर दो से तीन फीट पानी भरा हुआ है। मौसम विभाग ने मालवा और भोपाल के आसपास बारिश का अलर्ट जारी किया है।

सड़क, पटरी और पुल डूबे, उफान पर आई नदी
—————-
उज्जैन में भारी बारिश के चलते शिप्रा और गंभीर दोनों नदियां उफान पर हैं। रामघाट पर शिप्रा का पानी घाट पर बने मंदिर और पुल तक पहुंच गया है। सड़कों ने तालाब का रूप ले लिया है और कई काॅलोनियों में घुटने-घुटने तक पानी भर गया है। गंभीर नदी पर बना बांध भर गया है जिसके कारण प्रशासन ने तत्काल दो गेट खोल दिए हैं। 5000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। शनिवार से हो रही बारिश के कारण इंदौर, देवास, धार, सोनकच्छ जैसे इलाकों में भी पानी भर गया है।

कलेक्टर और एसपी ने की शिप्रा की पूजा
—————-
बारिश से उफनती शिप्रा नदी का पानी शहर के कई इलाकों में घुस गया है। जिला कलेक्टर कवीन्द्र कियावत और एसपी मनोहर वर्मा शिप्रा में बाढ़ के हालात की जानकारी लेने पहुंचे और घाट पर शिप्रा को मनाने के लिए पूजा की। इस दौरान उन्होंने बताया कि उज्जैन के कुछ सीनियर लोगों ने उन्हें बताया था कि यहां शिप्रा के पूजन की परंपरा है। हम लोक मान्यता की इस परंपरा को निभाने आए थे।

ट्रेन रूट प्रभावित, सोमवार को स्कूलों में छुट्टी
—————-
शहर की सड़कें तो पूरी तरह जलमग्न हो ही गई है रेल की पटरियां भी पानी में डूब गई है जिसके चलते इंदौर, भोपाल और रतलाम मार्ग की गाड़ियां प्रभावित हुई है। रेलवे पटरियों पर पानी जमा होने के चलते इंटरसिटी, भिंड और अवंतिका एक्सप्रेस जैसी कई गाड़ियां स्टेशन पर खड़ी है। बारिश के चलते कलेक्टर कवीन्द्र कियावत ने सोमवार को स्कूल और कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी है। हरसिद्धी, दानीरोड, ढाबा रोड सहित शहर के कई क्षेत्रों और निचली बस्तियों में सड़क के अलावा लोगों के घरों में भी पानी भर गया है।

बेतवा-कालीसिंध समेत कई नदियों में बाढ़
—————-
भोपाल, विदिशा और उसके आसपास के कई इलाकों में बारिश से कई नदी-नाले उफान पर हैं। विदिशा में बेतवा नदी खतरे के निशान से 5 फीट ऊपर बह रही है। सोनकच्छ में कालीसिंध भी उफान पर हैं। धार में अब तक 4 इंच तो बदनावर में 7.2  इंच बारिश दर्ज की गई है। उज्जैन के अलावा इंदौर, देवास सोनकच्छ समेत मालवा क्षेत्र में तेज बारिश हो रही है। झाबुआ, देवास, खरगोन, बड़वानी जिलों में भी कल से लगातार बारिश हो रही है। वहीं शाजापुर, मंदसौर, रतलाम में झमाझम बारिश का दौर जारी है।

मध्य प्रदेश में कहां कितनी हुई बारिश
(आंकड़े इंच में)
उज्जैन – 17.5
इंदौर – 8.9 इंच
शाजापुर – 7.9
रतलाम – 3.9
देवास – 3.8
महू – 3.2
मंदसौर – 2
नीमच – 7
आलीराजपुर – 3.4
धार – 4
बदनावर – 7.2
झाबुआ – 2
खरगोन- 0.7

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*