Wednesday , 8 December 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
सेना का रेस्क्यू आॅपरेशन हुआ सफल, बच्ची को बोरवेल से निकाला

सेना का रेस्क्यू आॅपरेशन हुआ सफल, बच्ची को बोरवेल से निकाला

बच्ची को निकालते सेना के जवान012

बच्ची को एंबुलेंस के लिए ले जाता पुलिसकर्मी

नौ घंटे चले रेस्क्यू में अंतिम घंटे एनडीआरएफ की टीम ने भी किया सहयोग

कानपुर। नौ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सेना के जवानों ने बोरबेल में गिरी मासूम को निकालते हुए डाक्टरों की टीम के  सुपुर्द कर दिया। हैलट के डाक्टरों की टीम ने बच्ची को तत्काल एंबुलेंस से हैलट के जच्चा बच्चा केन्द्र में भर्ती कराया। जहां पर बच्ची की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। डाक्टरों नेबताया कि बच्ची का इलाज चल रहा है छह घंटे बाद ही कुछ बताया जा सकता है।

नबाव गंज थाने में रोड़वेज परिसर के अन्दर केडीए के द्वारा खोदे गए ८० फ़ीट गहरे  बोरवेल में एक डेढ़ साल की बच्ची खुशी सुबह सात बजे उस समय गिर गई जब अपनी मां श्यामा के साथ शौच करने गई थी। क्षेत्रीय पार्षद राजकिशोर यादव की सूचना पर आनन-फानन में पुलिस व प्रशासनिक अफसरमौके पर पंहुचे। एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने सेना को तत्काल जानकारी दी। कर्नल दुष्यंत सिंह व मेजर सी.पी. वडोला के नेतृत्व में सेना के जवानों ने मोर्चा संभाला और रेस्क्यू आपरेशन में जुट गए। जवानों ने सुबह ९  बजे रेस्क्यू आपरेशन शुरू कर दिया। इसी बीच कर्नल ने हल्द्वानी बेस कैम्प कीविशेषज्ञ टीम को सूचना दी और जल्द से जल्द कानपुर पहुंचकर रेस्क्यू आपरेशन में सहयोग करने की बात कही। जिसके बाद दोपहर २ बजे मेजर प्रीतम सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम हेलीकाप्टर से कैंट स्थित सेना के हेड क्वार्टर उतरी और तत्काल घटना स्थल के लिए रवाना हो गए। विशेषज्ञ टीम2ः30 बजे मौके पर पहुंची और बचाव कार्य में जुट गई। तेज धूप के बावजूद सेना के जवान कड़ी मशक्कत कर बच्ची को निकालने के लिए सुरंग बनाने में लगे रहे। इस बीच जानकारी पर 4ः25 बजे लखनऊ से वी. राजीव कुमार की 18 सदस्यीय एनडीआरएफ की टीम भी पंहुचकर रेस्क्यू आॅपरेशन मेंमदद में जुट  गई। लगभग नौ घंटे की कड़ी मेहनत के बाद सेना ने शाम 5ः28 बजे बच्ची को बोरवेल से निकाला और उपचार के लिए आनन-फानन हैलट अस्पताल पहुंचाया। यहां पर डाक्टरों ने उसे आईसीयू में रख उपचार शुरू किया। एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने बताया कि बच्ची को निकाल लियागया है और हैलट के डाक्टरों की टीम में शामिल डा. नवनीत की देखरेख में उसका उपचार शुरू कर दिया गया।

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*