Tuesday , 5 July 2022
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर. मुसलमानों का मंदिर में घंटा बजाना ,हिन्दुओं का नमाज़ पढ़ना कौमी एकता नही (मो.हाशिम अशरफी)

कानपुर. मुसलमानों का मंदिर में घंटा बजाना ,हिन्दुओं का नमाज़ पढ़ना कौमी एकता नही (मो.हाशिम अशरफी)

abu obaida 9838033331 कारी अब्दुस्समी मेमोरियल सोसाइटी की ओर से परेड स्थित एक होटल में ईद मिलन समोरोह पद्मश्री इरशाद मिर्ज़ा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ .इस आयोजन में आई ए एस शकुन्तला गौतम,एडीएम सिटी अविनाश सिंह ,एसएसपी शलभ माथुर सहित नगर की कई जानी मानी हस्तियों ने भाग लिया .कौमी एकता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किये गए इस कार्यक्रम में बोलते हुए मौलाना हाशिम अशरफी ने कहा की कौमी एकता का मतलब ये कतई नहीं की मुसलमान मंदिर में घंटा बजाये और हिन्दू मस्जिद में नमाज़ अदा करे ,उन्हों ने कहा की यदि कोई बाहरी ताक़त हमारे देश पर हमला करे और उसे हिन्दू,मुस्लिम सिख इसाई मिल कर मुह तोड़ जवाब दें ये सच्ची कौमी एकता होगी .मौलाना ने कहा की उन्हें ख़ुशी होगी अगर अगले साल ,यतीम बच्चों ,गरीबों रिक्शा  चालकों के साथ ईद की सिवईयां खाई जाएं .मौलाना अशरफी ने दोहराया की देश की इज्ज़त आबरू के लिए सभी धर्मों के लोग मिल कर काम करें यही सच्ची कौमी एकता है .आई ए एस शकुन्तला गौतम ने ने अपने संबोधन में कहा की शिक्षा को अपना कर देश और समाज की तरक्की मुमकिन है .श्रीमती गौतम ने कहा की सभी को नई पीढ़ी की अच्छी शिक्षा के प्रति गंभीर होना होगा .कानपुर के एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने कार्यक्रम के आयोजन और नगर की जनता को सराहते हुए कहा की जिस तरह कानपुर की जनता ने मुझे प्यार दिया वो मेरे लिए किसी अवार्ड से कम नहीं .

एसएसपी शलभ माथुर ने कहा की जिला प्रशासन ,पुलिस और जनता में तालमेल से शहर में अमन चैन स्थापित होता है और कानपुर में ऐसा हो भी रहा है ,शलभ माथुर ने कहा की कानपुर की जनता ने रमजान और ईद के त्योहारों में कौमी एकता और भाई चारे की मिसाल पेश कर साबित कर दिया की यहाँ के बाशिंदे एक दुसरे को इज्ज़त और प्यार देना जानते हैं .

कार्यक्रम में कानपुर पुलिस कप्तान शलभ माथुर को शान्ति पुरुष अवार्ड २०१५ से सम्म्मानित किया गया वहीँ एडीएम सिटी अविनाश सिंह को खिदमत ए खल्क अवार्ड से नवाज़ा गया .

इस से पूर्व कार्मक्र्म की शुरुआत कारी उस्मान बरकाती  ने कुरान की तिलावत से की और साबिर फरीदी ने कौमी एकता पर कविता पाठ किया ,संचालन शारिक अल्वी ने किया प्रोग्राम में सोसाइटी के मीडिया प्रभारी शाह आज़म बरकाती ,असगर बिन याकूब,हाफिज अब्दुल अहद ,अब्दुल माबूद,शकील अहमद कादरी आदि मौजूद थे .

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*