Friday , 24 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
ड्रोन की निगरानी में रहेगा बिहार का चुनाव , प्रथम चरण का मतदान 12 को

ड्रोन की निगरानी में रहेगा बिहार का चुनाव , प्रथम चरण का मतदान 12 को

BIHAR-ELECTION-2014राजेश मिश्रा पटना, कल बिहार चुनाव के मतदान के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। और सभी मतदान केंद्रो पर पोलिंग पार्टियों ने पहंुचकर अपनी तैयारियों का अंतिम रूप भी दे दिया है। प्रथम चरण के इस मतदान में 583 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे है। जिनमें 54 महिलाएं भी शामिल है। मुख्य निर्वाचन आयोग की निगरानी में हो रहे इस इस चुनाव को शांति पूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने के लिए एक लाख बीस हजार अर्थ सैनिक बलों को तैनात किया गया है। तथा नकशल प्रभावित क्षेत्रों में मानव रहित विमान ड्रोन की भी मदद ली जा रही है। कल देर शाम चुनाव प्रचार समाप्त होते ही सभी राजनैतिक दलों के प्रत्याशियों ने घर घर जाकर मतदाताओं को लुभाने की कोशिश की। विहार में पांच चरणों में चुनाव होना है। और यह चुनाव 12, 16, 28 अक्टूबर व 1 व 8 नवम्बर को होना है। जिसमें चार लाख 89 हजार अर्थ सैनिक बलों सहित सेना की भी तैनाती की जा सकती है। सभी पांचों चरणों में होने वाले चुनाव के लिए 62 हजार 789 मतदान केंद्र स्थापित किये जायेगे जिनमें 6 करोड़ 6 लाख मतदाता अपने मतों का प्रयोग कर चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे प्रत्याशियों के भाग का फैसला करेगें दूसरे चरण के चुनाव प्रचार का दौर भी चरम पर पहंुच चुका है और राजग सहित जदयू राजद व कांग्रेस के महागठबंधन के नेता भी रैलियों के माध्यम से मतदाताओं को अपनी ओर लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते है। चुनाव के दौरान अर्थ सैनिक बलों की तैनाती से यहां राजग खेमे के लोग खासे उत्साहित है। वहीं नितीश और लालू इसपर आपत्ति जाहिर करते तर्क देे रहे है कि केंद्र ने जनता में दहशत फैलाने के लिए इतनी भारी संख्या में अर्थ सैनिक बलों की तैनाती की है। कांग्रेस ने भी कंेद्र की इस पहल की निंदा करते हुए कहा कि केंद्र का रवैया सभी राज्यों के साथ एक जैसा होना चाहिए कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विधायक राम चंद्र भारती का कहना है कि भारी अर्थ सैनिक बल की मौजूदगी के चलते ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब व दलित समाज के लोग दहशत की वजह से घरों से नहीं निकल पायेगे जिसका सीधा मतदान पर पड़ना स्वाभाविक है। उन्होंने एक पत्र लिखकर राज्य निर्वाचन आयोग का ध्यान भी इस ओर आकर्षित  कराते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार चुनाव को प्रभावित करने की साजिश रच रही है जिसे बिहार की जनता कतई पूरा नहीं होने देगी।

 

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*