Tuesday , 21 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर। छोटी छोटी घटनाओं को  सांप्रदायिक रंग देना साज़िश। जगमोहन यादव dgp up .

कानपुर। छोटी छोटी घटनाओं को सांप्रदायिक रंग देना साज़िश। जगमोहन यादव dgp up .


IMG_9171abu obaida कानपुर. उत्तरप्रदेश में छोटी सी तकरार को साम्प्रदायिक रंग देना सोची  समझी साज़िश का हिस्सा है जिस से सख्ती से निपटने की तयारी है और क़ानून क्याव्स्था से कोई  समझौता नहीं होगा , ये बात आज कानपुर दौरे पर आये यूपी पुलिस के डी जी जगमोहन यादव ने कहीं। डी जी पी जगमोहन यादव ने कहा की पक्षिमी उत्तरप्रदेश में जिस तरह से मामूली विवाद को साम्प्रदायिक रंग दिया जा रहा है और भीड़ में उन्माद पैदा कर के दंगे जैसी स्थिति पैदा की जा रही है उससे सख्ती से निपटा जा रहा है ऐसी हालत में भीड़ पर कार्रवाई  के साथ उन नेताओं को चिन्हित कर रासुका लगाईं जाए गी  जो ऐसी साज़िश रच रहे हैं। उन्हों ने कहा की पक्ष्मी यूपी में जहाँ भी ताज़ा साम्प्रदायिक घटनाए हुई है उनमे लीगल एक्शन लिया गया है। डीजीपी ने कहा की ये सब ग्राम पंचायत चुनाव और २०१७ के विधान सभा चुनाव के मद्देनज़र हो रहा है जिसके तहत कुछ शरारती तत्व अपने चंद वोटों की लालच में दो लोगों के मामूली झगड़े को मज़हबी उन्माद में बदल कर माहौल खराब कर देते हैं अब ऐसी स्थिति से निपटने के लिए स्थानीय एसएसपी और अधीनस्त पुलिस कर्मियों की  जिम्मेदारी फिक्स की जा रही है जिस में घटनाओं को तूल  देने से पहले ही रोकना होगा। अब थाने के एसओ से एसएसपी तक की ज़िम्मेदारी होगी की वे छोटी सी भी घटना को गंभीरता से लें और तनाव बढ़ने से पहले ही हालात पर काबू पाएं।बुंदेलखंड की घटना पर कहा की उस मामले में भी एफआईआर दर्ज कर एनएसए लगाईं जा रही है।कानपुर पुलिस के आधुनिक कंट्रोल रूम के निरीक्षण के दौरान उन्हों ने कहा की ये कानपुर पुलिस की बड़ी उपलब्धि है ,अब ये अपने उद्देश्य पर खरा उतरा है या नहीं ये तो पूरी जानकारी लेने के बाद ही बताया जा सकता है। कुल मिला कर डीजीपी के कानपुर दौरे ने रमज़ान और आने वाले ईद के त्यौहार पर पुलिस को चुस्त रहने का सन्देश दे दिया है। ये अलग बात है की कानपुर और आसपास के ज़िलों को पक्षिम यू पी  जैसी नज़र पिछले दस बारह सालों में नहीं लगी है और जो भी घटनाएं हिंसा में बदल सकती थीं वो स्थानीय लोगों की समझदारी  और पुलिस की सक्रियता के चलते सौहार्द में तब्दील हो गयीं।IMG_9235

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*