Saturday , 25 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
डी ८० गैंग के चार कुख्यात लुटेरे पकडे गए।

डी ८० गैंग के चार कुख्यात लुटेरे पकडे गए।

कानपुर।पिस्टलों की तस्करी लूटपाट व अन्य आपराधिक घटनाओं को अंजाम  देने वाले कुख्यात डी ८० गैंग के चार सक्रीय सदस्यों को करनाल गंज पुलिस ने बकरमण्डी चौराहे से ५०० ग्राम चरस चोरी के मोबाइल व नकदी के साथ गिरफ्तार किया।कर्नल गंज पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी थी की नाला रोड निवासी इमरान पुत्र मुर्तज़ा अपने कुछ साथियों के साथ बकरमण्डी स्थित एक पान की दुकान के पास किसी वारदात को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहे हैं। इस सूचना के बाद पुलिस ने होशियारी के साथ उक्तस्तान पर पहुँच कर घेरा बंदी की तो चार लोग भागने लगे जिस पर चारों की जाम तलाशी में दो लोगों की जेब से ढाई ढाई सौ ग्राम चरस व कई मोबाइल बरामद किये गयी। चारों को थाने लाकर पूछताछ की गयी तो पता चला कि यह लोग रियाज़त व रिसालत द्वारा संचालित कुख्यात डी ८० गैंग के लिए लूट मोबाइल चोरी व चरस की सप्लाई करने का काम करते हैं।करनाल गंज क्षेत्राधिकारी संजीव दीक्षित ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बता कि छोटे मियाँ हटा निवासी रिसालत उर्फ़ रेहान पुत्र मजनू इस गैंग का सरगना है और फिलहाल जेल में है। इसके तीन भाई कर्नल गंज व आसपास के इलाकों की घनी बस्तियों में छिप कर ३२ बोर की पिस्टलों को खरीदने बेचने का धंधा करते हैं साथ इस गैंग में नयी उम्र के लड़कों की भर्ती की जाती है जिसे नशे का आदी बनाकर उनसे आपराधिक वारदाते करायी जाती हैं। अक्सर यही लोग कर्नल गंज में वर्चस्व कायम करने के लिये गोली बम भी चलाते रहते हैं।सीओ कर्नल गंज ने कहा कि गिरफ्त में आये चारों बदमाशों से गहन पूछताछ में कई लूट की वारदातों का खुलास अहुआ है।पुलिस ने इमरान पुत्र मुर्तज़ा निवासी नाला रोड असगर पुत्र मेहँदी हसन निवासी  मछरिया आमिर अली पुत्र आरिफ निवासी लाल बँगला व शोएब पुत्र स्व. इश्तियाक निवासी गाममुखां हाता को चरस बेचने  मोबाइल व पर्स लूटने के आरोप में जेल भेज दिया है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*