Friday , 17 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
भाजपा के चंगुल से आज़ाद होगी आर्यनगर विधानसभा -मोहम्मद इमरान

भाजपा के चंगुल से आज़ाद होगी आर्यनगर विधानसभा -मोहम्मद इमरान

abu obaida कानपुर। आर्य नगर विधानसभा की बदहाल स्थिति का कारण भाजपा को बताते हुए आर्यनगर विधानसभा से बसपा प्रत्याशी मोहम्म्द इमरान ने कहा की २०१७ में उनकी सरकार बनने के बाद न सिर्फ सूबे की तस्वीर बदले गी बल्कि आर्यनगर विधानसभा क्षेत्र की सूरत भी चमक उठे गी। इमरान ने कहा कि पिछले तीस  सालों से इस सीट पर भाजपा का कब्ज़ा है और यही वजह है की क्षेत्र की जनता बिजली पानी और सीवर की बुनियादी सुविधा से महरूम है। उन्हों ने कहा कि इस विधानसभा में बड़ी मुस्लिम और दलित बस्तियां और मोहल्ले हैं जिनमे विकास के नाम पर स्थानीय विधायक सलिल विश्नोई ने कभी कोई काम नहीं किया। इलाके की नालियां बजबजा रही हैं सड़कें खुदी पड़ी हैं और बिजली के तार खतरनाक हद तक नीचे लटके हैं जिस से आये दिन हादसे होते रहते हैं। इमरान ने कहा कि सलिल विश्नोई ने अपनी निधि से केवल उन इलाकों में काम किया जहां से उन्हें परंपरागत हिन्दू वोट मिला। यही कारण है कि  मुसलमानो और दलितों की बस्तियां जहन्नुम बनी हुई हैं जिसे वह जन्नत में बदलने की कोशिश करें गे।इमरान ने प्रदेश सरकार को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मुसलमानो के दम पर अपनी सरकार बनाने वाली समाजवादी पार्टी आज मुसलमानों को ही भुला बैठी है। आज मुसलमान दंगों के खौफ से सहमा हुआ है और सरकार भाजपा के बांहों में बांहें डाले मस्ती कर रही है। आगे कहा कि अब वक़्त आगया है कि सपा सरकार को मुसलमान सबक सिखाएं और बसपा को प्रदेश की कमान सौंपें ताकि साम्प्रदायिकता का माहौल खत्म हो और अल्प संख्यक ख़ास कर मुसलमान अपने आप को प्रदेश में महफूज़ समझें। इमरान ने कहा कि इतिहास गवाह है कि बसपा सरकार में कभी साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ और जिन साम्प्रदायिक शक्तियों ने कभी ऐसा करने की सोची भी उसे सख्ती से कुचला गया।उन्हों ने कहा कि मुसलामानों के बल बूते सरकार बनाने वाली समाजवादी पार्टी केवल यादवों को ही बढावा देती है जब कि मुसलमानो को उनकी आबादी के हिसाब से भागीदारी नहीं दी गयी। मुज़फ्फर नगर में हुए दंगों पर कहा कि वह राज्य सरकार का प्रायोजित कार्यक्रम था यदि बसपा सरकार होती तो दंगाई ऐसा करने की हिम्मत ही न करते और मासूम लोगों की ज़िंदगियाँ महफूज़ रहतीं।उन्हों ने कहा कि अब जनता समाज चुकी है और सर्वे भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं कि उत्तरप्रदेश में बसपा के अलावा कोई विकल्प नहीं। सपा को लड़ाई से बाहर करते हुए कहा कि प्रदेश में थोड़ा बहुत मुक़ाबला भाजपा से है लेकिन यूपी की जनता दिल्ली और बिहार में मुंह ई खाने वाली झूठी भाजपा को कुछ नहीं देने वाली और २०१७ में बसपा बहुमत से वापस आएगी।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*