Wednesday , 22 January 2020
Breaking News
कानपुर.बीजेपी के प्रदर्शन में फाड़ी गईं सी एम् अखिलेश की होर्डिंग्स .

कानपुर.बीजेपी के प्रदर्शन में फाड़ी गईं सी एम् अखिलेश की होर्डिंग्स .

IMG_8443abu obaida समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता एक तरफ यूपी के सीएम् अखिलेश यादव का ४२वा जन्म दिन मना रहे थे दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी यूपी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन में जुटी थी .पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में बढती महंगाई और बिजली के दामो में बेतहाशा इजाफे के विरोध में  शिक्षक पार्क से बड़े चौराहे तक मार्च किया.पद यात्रा बड़े चौराहे पर पहुच कर सभा में तब्दील हो गयी .इस बीच भाजपा कार्यकर्ताओं ने बड़े चौराहे पर लगी सपा की कई  होर्डिंग्स को पहाड़ दिया जिन में अखिलेश यादव को जन्मदिन की बधाई दी गयी थी .होर्डिंग्स फाड़े जाने पर पुलिस मूक दर्शक बनी रही .शिक्षक पार्क से बड़े चौराहे के बीच बीजेपी कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ जम कर नारे बाज़ी की .भाजपा नगर अध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी के नेत्रत्व में हुए इस प्रदर्शन में भाजपा के विधायक सतीश महान सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे .इस अवसर पर बोलते हुए विधायक सतीश महान ने कहा की यूपी सरकार लगातार बिजली की दरें बढ़ाती जा रही है जिस से प्रदेश में पहले से महंगाई की मार झेल रही जनता परेशान है बिजली की दरें बढ़ने से महंगाई आसमान पर पहुच चुकी है उन्हों ने कहा की अब समय आ गया है की इस सरकार से जनता को छुटकारा दिलाया जाये .भजपा नगर अध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी ने कहा की बिजली की दरें कई मुद्दों में से एक मुदा है,इस सरकार में गुंडा राज कायम है ,खास तौर पर महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों की बाढ़ सी आगई है ,कानपुर जैसे महा नगर में पुलिस का इकबाल खत्म हो चुका है और सुबह का अखबार खून से रंगा होता है .मैथानी ने कहा की रोजाना लोगों की सरे आम ह्त्या ,लूट, डकैती,और बलात्कार के मामले कानपुर में आम सी बात हो गई है .कहा की बिजली की दरों को नियंत्रित नहीं किया गया तो आन्दोलन और तेज़ करदिया जाए गा .
IMG_8494

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>