Saturday , 25 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
एशेज: रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड की जीत

एशेज: रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड की जीत

14-07-2013,एशेज के प्रथम टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दोनों पारियों में आखिरी विकेट के लिए बहुत संघर्ष किया, लेकिन इंग्लैंड ने जेम्स एंडरसन की शानदार गेंदबाजी की बदौलत रविवार को ट्रेंटब्रीज में उसे 14 रनों से मात दे दी.
एंडरसन ने दोनों पारियों में कुल 10 विकेट लिए.एंडरसन को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेअर ऑफ द मैच चुना गया.

पहली पारी में इंग्लैंड के 215 रनों के जवाब में एक समय 117 के स्कोर पर नौ विकेट खो चुकने के बाद ऑस्ट्रेलिया की तरफ से अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला मैच खेलने उतरे एस्टन एगर (98) ने फिलिप ह्यूजेस (नाबाद 81) के साथ 10वें विकेट की साझेदारी में जहां ऑस्ट्रेलिया को 280 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया, वहीं दूसरी पारी में 311 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में एक समय 231 रन पर नौ विकेट गिर चुके थे.

इस बार ऑस्ट्रेलिया के लिए 10वें विकेट की साझेदारी में विकेटकीपर बल्लेबाज ब्रैड हैडिन (71) के साथ 11वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे जेम्स पेटिंसन (नाबाद 25) ने 65 रनों की साझेदारी निभाकर मैच को एक समय बेहद रोमांचक मोड़ पर ला दिया था.

ऑस्ट्रेलिया एशेज का पहला टेस्ट भले 14 रन के मामूली अंतर से हार गया हो, लेकिन 10वें विकेट की दोनों पारियां क्रिकेट इतिहास की यादगार पारियों में शुमार हो गईं. एगर ने अपने पदार्पण मैच में दो-दो विश्व रिकॉर्ड ही बना डाले.

ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में जीत के लिए 311 रनों की दरकार थी, लेकिन 296 रन पर पांचवें दिन भोजनकाल के ठीक बाद पूरी टीम आउट हो गई.

मैच के पांचवें दिन ऑस्ट्रेलिया ने जब अपने चौथे दिन के स्कोर छह विकेट पर 174 रन से आगे खेलना शुरू किया तो उसे जीत के लिए अभी भी 137 रनों की दरकार थी. हैडिन के साथ पहली पारी के हीरो एगर ने चौथे दिन के खेल को आगे बढ़ाते हुए पांचवें दिन सधी हुई शुरुआत की.

हैडिन के साथ ऑस्ट्रेलिया के स्कोर में 33 रनों का इजाफा करने के बाद एक बार फिर से क्रीज पर जमते से लग रहे एगर (14) एंडरसन की गेंद पर स्लिप पर खड़े कप्तान एलिस्टर कुक के हाथों लपके गए.

इसके बाद एंडरसन ने मिशेल स्टार्क (1) तथा पीटर सिडल (11) को भी जल्दी-जल्दी कुक के हाथों कैच आउट करवा दिया. 231 के स्कोर पर सिडल के जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया के लिए मैच बेहद कठिन हो गया. ऑस्ट्रेलिया के हाथ में सिर्फ एक विकेट बचा और उसे जीत के लिए 80 रन चाहिए थे, लेकिन 10वें विकेट के लिए हैडिन और पैटिंसन के बीच हुई अर्धशतकीय साझेदारी ने मैच को बेहद रोमांचक मोड़ पर ला दिया.

हैडिन के मैट प्रायर द्वारा लपके जाने के साथ ही जेम्स एंडरसन ने इंग्लैंड को जीत दिला दी. एंडरसन ने दूसरी पारी में भी पांच विकेट चटकाए. एंडरसन ने मैच में कुल दस विकेट हासिल किए. ग्रीम स्वान तथा स्टुअर्ट ब्रॉड को दो-दो विकेट मिले.

इससे पहले, चौथे दिन जब ऑस्ट्रेलिया अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी तो उसे जीत के लिए 311 रनों की दरकार थी, जिसका पीछा करते हुए उसने चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक छह विकेट पर 174 रन बना लिए थे.

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में शेन वॉटसन (46) और क्रिस रोजर्स (52) के माध्यम से अच्छी शुरुआत की लेकिन आगे के बल्लेबाज अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन नहीं कर सके. या फिर यह कहा जा सकता है कि इंग्लिश गेंदबाज घरेलू हालात का फायदा उठाकर उन पर हावी रहे.

वॉटसन और रोजर्स ने पहले विकेट के लिए 84 रन जोड़े. वॉटसन का विकेट 84 रन के कुल योग पर गिरा. वॉटसन ने 74 गेंदों पर आठ चौके लगाए. 111 के कुल योग पर एड कोवान (14) का विकेट गिरा और फिर 124 के कुल योग पर रोजर्स पवेलियन लौट गए.

रोजर्स ने अपनी अर्धशतकीय पारी में 121 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके लगाए. कप्तान माइकल क्लार्क (24) को 161 रनों के कुल योग पर ब्रॉड ने आउट किया. क्लार्क ने 70 गेंदों पर दो चौके लगाए.

इसके बाद 161 के कुल योग पर ही स्वान ने स्टीवन स्मिथ (17) को अपनी फिरकी में फंसाया. स्मिथ अभी पवेलियन लौटकर सुस्ता ही रहे होंगे कि स्वान ने पहली पारी में नाबाद लौटने वाले फिलिप ह्यूज (0) को एक बेहतरीन गेंद पर पगबाधा आउट किया.

अम्पायर कुमार धर्मसेना ने इस अपील को नकार दिया था लेकिन रिव्यू के बाद इंग्लैंड को छठी सफलता मिली.

इससे पहले, इंग्लैंड की दूसरी पारी 149.5 ओवरों में 375 रनों पर सिमट गई थी. इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 215 रन बनाए थे जबकि ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 280 रन बनाकर 65 रनों की बढ़त हासिल की थी.

इंग्लैंड ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट के नुकसान पर 326 रन बनाकर 261 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी. इयान बेल 95 रनों पर नाबाद लौटे थे जबकि स्टुअर्ट ब्रॉड ने 47 रन बनाए थे.

चौथे दिन बेल ने अपना शतक पूरा किया और फिर ब्रॉड ने अर्धशतक पूरा किया. ब्रॉड 356 रनों के कुल योग पर आउट हुए जबकि बेल अपने करियर का 18वां शतक पूरा करने के बाद 371 रनों के कुल योग पर पवेलियन लौटे.

दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी हुई. बेल ने 267 गेंदों पर 15 चौके लगाए जबकि ब्राड ने 148 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके लगाए.

स्वान (9) का विकेट 375 रनों के कुल योग पर गिरा जबकि एंडरसन (0) 375 के कुल योग पर ही पवेलियन लौट गए . स्टुअर्ट फिन दो रन बनाकर नाबाद रहे.

कंगारुओ की ओर से दूसरी पारी में मिशेल स्टार्क और पीटर सिडल ने तीन-तीन सफलताए हासिल की वही अपना पहला टेस्ट खेल रहे एगर और पेटिंसन को दो-दो सफलता मिली. सिडल ने इस मैच में कुल आठ विकेट लिए.

इस जीत के साथ एशेज के पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से इंग्लैंड आगे हो गया है. अगला टेस्ट मैच गुरुवार, 18 जुलाई से शुरू होगी.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*