Saturday , 13 August 2022
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
शाह की नसीहत के बाद भी विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे भाजपा नेता

शाह की नसीहत के बाद भी विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे भाजपा नेता

नई दिल्ली snn – दादरी व बीफ मुददे पर अपनी ही पार्टी के नेताओं की बयान बाजी से आजिज आ चुकी भारतीय जनता पार्टी ने अब खुद ही इन नेताओं पर नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी है। जिसके चलते आज पार्टी केेे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर, केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा, भाजपा विधायक सगीत सोम एवं सांसद साक्षी  महराज को अपने आवास पर तलब करते हुए उनकी जमकर क्लास ली। , पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने इन नेताओं को हिदायत दी कि भविष्य में वह मीडिया के सामने अपनी जुबान खोलते समय पार्टी की रणनीति  को ध्यान में  रखेे, उन्होेने इन नेताओं को यह भी कहा कि उनके इस बयानों  से जनता के बीच गलत संदेश जा रहा है। जिसे समय रहते सुधारने की जरूरत है। शाह के आवास से बाहर निकलने के बाद इन सभी नेताओं के चेहरोें से हवाईया उतड़ी साफ नजर आ रही थी। और जब पत्रकारेां ने उनसे मुलाकात के बाबत जानकारी मांगी तो वे खिसियानी मुस्कुराहट के साथ बोले कि राष्ट्रीय अध्यक्ष ने उन्हें संगठन संबंधी बातों पर चर्चा करने के लिए बुलाया था जहां दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष के समक्ष इन नेताओं की क्लास चल रही थी उसी समय गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी  आदित्यनाथ ने यह कह कर पार्टी नेतृत्व के समक्ष एक खासी चुनौती पैदा कर दी कि देश में मोहरर्म के दौरान मुसलमानों द्वारा किए जाने वाले हथियारों के प्रदर्शन पर भी सरकार को रोक लगानी चाहिए। , उन्होेंने  कहा कि वह सेकुलार्रिज्म   हमें बर्दाश्त नहीं है जो सिर्फ हिन्दुओं के विपरीत  धारा में बहती हो ऐसे सैकुलेरिजम को देश के बाहर फेंक देना चाहिए , योगी  आदित्यनाथ ने कहा कि धर्म निरपेक्षता  हिन्दू विरोधी बन चुका है ऐसे में गौ  हत्या की प्रतिक्रिया  होना स्वाभाविक है। वहीं साध्वी प्राची  ने भी योगी आदित्यनाथ के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान में ही हिन्दू का शोषण हो इस बात को वह कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। , साध्वी प्राची ने यह भी कहा कि भारत पाक विभाजन के बाद जो भी मुसलमान भारत में रह गए हमने उन्हे हमेशा ही उन्हें छोटे भाई का दर्जा दिया है। बावजूद इसके वह सेकुलरिज्म के नाम पर हमारा विरोध करते रहते है।

 

 

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*