Saturday , 25 September 2021
Breaking News
दिल्ली दुष्कर्म : चारों दोषियों को मृत्युदंड, फैसला सुन रो पड़े दरिंदे    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध    क्रिकेटर अंकित चव्हाण और श्रीशांत पर आजीवन प्रतिबंध
कानपुर.महिला ने पति और देवर पर शारीरिक शोषण का आरोप लगा कर सनसनी फैलाई .

कानपुर.महिला ने पति और देवर पर शारीरिक शोषण का आरोप लगा कर सनसनी फैलाई .

abu obaida  .शारीरिक ,मानसिक,और आर्थिक उत्पीडन से तंग एक महिला अपने पति से तलाक़ चाहती है पति तलाक़ नहीं देना चाहता और पत्नी तबस्सुम को अपने साथ ज़बरदस्ती लेजाने की जिद पर अड़ा है .तबस्सुम को अपने साथ रखने की जिद कर रहे पति अली हसन ने अनवर गंज थाने में में प्रार्थना पत्र दिया है की वह अपनी पत्नी तबस्सुम को साथ रखना चाहता है जब की अली अहमद के ज़ुल्म की सताई तबस्सुम किसी भी हाल में उसके साथ रहने को तयार नहीं .इस मामले में तबस्सुम ने अनवरगंज थाने की किसी चौकी के इंचार्ज अशोक पर इलज़ाम लगाया है की वह उस पर पति के साथ जाने का ज़बरदस्ती दबाव बना रहे हैं और न जाने पर उसके भाइयों और पिता को फर्जी मुक़दमों में फंसाने की बात कह रहे हैं .तबस्सुम ने सत्यम न्यूज़ को बताया की फर्जी मुक़दमों का डर दिखा कर चौकी इंचार्ज अशोक उनके भाई से पांच हजार रूपये भी वसूल ले गए.तबस्सुम ने इस आशय का प्रार्थना पत्र १५ जून २०१५ को राज्य महिला आयोग ,कानपुर के एसएसपी और आईजी जोन को भी दिया है जहाँ से  जांच सम्बन्धित थाने को सौंपी गयी है.बता दें की कुली बाज़ार निवासी तबस्सुम ने मेलों में दूकान लगाने वाले कानपुर के प्रेम नगर निवासी अली अहमद  से वर्ष २००९ में प्रेम विवाह किया था.घर से भागने के बाद अली अहमद ने उससे इलाहाबाद में निकाह किया और वहीँ घर ले कर रहने लगा इस बीच इसी बीच तबस्सुम के देवर वसी अहमदने भी उसका जबरन शारीरिक शोषण शुरू कर दिया.कुछ ही दिनों में तबस्सुम गर्भवती होगई और एक बेटे को जन्म दिया बच्चे को अली अहमद और वसी अहमद ने ज़बरदस्ती नाना के घर भेज दिया.मासूम बच्चे से दूर करने पर तबस्सुम ने विरोध किया तो उसे पति और देवर ने आये दिन मारना पीटना शुरू कर दिया ,भूखा प्यासा रखा और तो और उसके सारे कपडे तक उतरवा कर कमरे में बंद कर दिया ताके वो भाग न सके.दोनों भाइयों द्वारा लगातार पांच साल तक तबस्सुम का शारीरिक शोषण होता रहा मगर घर छोड़ कर भागी अबला अपने मायके आने और शिकायत से डरती रही .अब से कुछ रोज़ पूर्व जब तबस्सुम का पति उसे लेकर कानपुर में रहने लगा तो किसी तरह वो भाग कर अपने मायके फहुची और सारी दास्ताँ घर वालों को बताई जिस के बाद तबस्सुम के भाइयों ने अली अहमद से बात करनी चाहि तो विवाद हो गया जिस में नौबत हाथा पाई तक पहुच गयी.झगडे के बाद तबस्सुम ने अनवरगंज थाने में भी मामला दर्ज कराया तो जांच में चौकी इंचार्ज अशोक ने पीडिता से कई बार चौकी बुला कर बात चीत की और पति से समझौते  का दबाव डाला.जिस पर तबस्सुम ने इंकार कर दिया.अब तबस्सुम का आरोप है की चौकी इंचार्ज अशोक पति के साथ ना जाने पर उसके भाइयों को फर्जी मुक़दमे में जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं और मुक़दमे से बचने के नाम पर भाइयों से पांच हज़ार रूपये उगाही कर चुके हैं.

तबस्सुम के आरोपों को अनवरगंज थाना इंचार्ज जाफरी ने पूरी तरह गलत बताया और कहा की एक नम्बर भरोसे पर शिकायत के बाद जाँच की गयी जिसमे तबस्सुम ने बताया की इलाहबाद में पति से झगड़े के बाद तलाक़ हो गयी थी जिसके बाद पति ने अपने छोटे भाई वसी से निकाह करा कर हलाला कराया और दुबारा शादी कर ली देवर द्वारा शारीरिक शोषण का इलज़ाम भी ग़लत है . दुबारा शादी के बाद भी दोनों में नहीं बनी और लडकी अपने मायके आकर रहने लगी.जाफरी के अनुसार पुलिस ने मानवता के आधार पर घर बसाने की अपील की और बच्चे के पालन पोषण की ज़िम्मेदारी के प्रति जागरूक किया लेकिन तबस्सुम किसी तरह पति के साथ जाने को तयार नही अब वो चौकी इंचार्ज पर रूपये उगाही का आरोप लगा कर पुलिस को बदनाम करने की कोशिश कर रही है .

About admin

One comment

  1. Ye kal yug hai bhai aurt kuch bhi kar sakti hai
    Admi ne agar aurt ki nhi suni to kuch bhi kar sakti hai ghute ilzam me bhi phasa sakti hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*